Today Visitor :
Total Visitor :


पहले 2 वनडे मैचों के लिए भारतीय टीम का ऐलान      |      परिणिती की 10 इंडो-वैस्टर्न ड्रेसेज      |      देश को ‘बकबक करने वाले ब्लॉगर नहीं, वित्त मंत्री की जरूरत: कांग्रेस      |      मैं नीरव मोदी से कभी नहीं मिला: अरुण जेतली      |      मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने मीडिया मॉनीटरिंग कक्ष का निरीक्षण किया      |      मी टू-सुष्मिता सेन ने कहा- आपको सुनना होगा, उस पर विश्वास करना होगा      |      जब हम पृथ्वी शाॅ की उम्र के थे तो हम उसके 10 प्रतिशत भी नहीं थेः कोहली      |      उद्धव ठाकरे का भाजपा पर तंज      |      चुनाव के समय ही पेट्रोल-डीजल पर विचार करते हैं मोदी : कांग्रेस      |      मतदाता पर्चियों का अनाधिकृत वितरण और कब्जे में पाये जाने पर दण्डनीय कार्यवाही होगी - मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी      |      INDvsWI: दूसरे टेस्ट में शानदार जीत के साथ टीम इंडिया का सीरीज पर कब्जा      |      डिफरेंट एक्सेसरीज से बनाएं स्टाइल स्टेटमेंट      |      सिद्धू के पाक प्रेम पर भाजपा का तंज      |      मी टू: दिल्ली में पत्रकारों का प्रदर्शन      |      24 घंटे में तीन गुना बढ़ा दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण      |      पंजाबी सिंगर गुरु के साथ रैंप पर उतरी उर्वशी रौतेला      |      IND vs WI 2nd Test: भारत ने बनाए 4 विकेट खोकर 308 रन      |      सबसे बड़ा रक्षा घोटाला है राफेल सौदा : प्रशांत भूषण      |      रावण पर लगा GST का ग्रहण, छोटा हुआ कद      |      सम्पत्ति विरूपण के 5 लाख 12 हजार से अधिक प्रकरण दर्ज      |      MeToo: दिल्ली HC ने कहा, सोशल मीडिया पर न करें पहचान उजागर      |      आईसीसी ने शुरू की महिला टी20 टीम रैंकिंग, भारत पांचवें स्थान पर      |      घोड़े पर सवार माता रानी के दर्शन करने पहुंची सारा अली खान      |      अन्य चुनावों से कम नहीं है स्थानीय निर्वाचन की चुनौतियाँ-श्री परशुराम      |      सबको शाकाहारी बनने का आदेश नहीं दे सकते: सुप्रीम कोर्ट      |      मुख्य चयनकर्ता ने तोड़ी चुपी- बताया क्यों पंत को चुना वनडे टीम में      |      रैंप पर ब्लैक ड्रेस पहनकर उतरी सोनाक्षी      |      भारत के साथ जल्द होंगी और डील- रूस      |      सम्पत्ति विरूपण के 3 लाख 44 हजार से अधिक प्रकरण दर्ज      |      राज्यपाल ने राजभवन में गरबा महोत्सव का उदघाटन किया      |      

आनंद की बात

इम्यून सिस्टम यानि रोग प्रतिरोधक क्षमता हमें कई बीमारियों से सुरक्षित रखती है। छोटी-मोटी इंफैक्शन से शरीर खुद ही निपट लेता है लेकिन अगर प्रतिरोधक क्षमता ही कमज
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
नवरात्रि के छठे दिन माता दुर्गा के कात्यायनी स्वरूप की पूजा की जाती है। इस दिन माता की पूजा शाम के समय करने का विशेष विधान है। माता की पूजा में पीले वस्त्र, पीले फूल और शहद चढ़ाया जाता है। मिट्टी या चांदी के बर्तन में शहद रखकर माता को भोग लगाना चाहिए ...
आगे पढ़ें
मूली का इस्तेमाल हर घर में स्लाद, सब्जी या परांठे बनाने के लिए किया जाता है। बेशक खाने में यह थोड़ी तीखी हो लेकिन सेहत के लिए यह किसी औषधि से कम नहीं है। आयुर्वेद में तो इसे लीवर और पेट के लिए 'प्राकृतिक प्यूरीफायर' माना गया है। इतना ही नहीं, इसका से...
आगे पढ़ें
कर्नाटक में लिंगायत मुद्दे पर सभी पार्टियां सावधानBookmark and Share

  कर्नाटक में 12 मई को होने वाले विधानसभा चुनावों के पहले प्रभावशाली लिंगायतों और वीरशैव लिंगायतों को ‘‘ धार्मिक अल्पसंख्यक ’’ का दर्जा दिए जाने के विवादास्पद मुद्दे का चुनाव पर पड़ने वाले असर को लेकर चिंतित राजनीतिक दलों ने सधा हुआ रूख अपना लिया है.

लिंगायत/वीरशैव को दर्जा दिए जाने के लिए सिद्धरमैया सरकार के भीतर ही विभाजन पर सत्तारूढ़ दल अब मुद्दे पर सतर्कता बरत रहा है.  राज्य की आबादी में लिंगायत / वीरशैव की 17 प्रतिशत हिस्सेदारी है . करीब 100 निर्वाचन क्षेत्रों, खासकर उत्तरी कर्नाटक में उनका वोट निर्णायक होता है . कर्नाटक विधानसभा के सदस्यों की संख्या 224 है.


लिंगायत आंदोलन को लेकर अब सतर्कता बरत में लगी कांग्रेस 

कांग्रेस ने इस मुद्दे को जोर - शोर से उठाया और मंत्रिमंडल के कुछ लिंगायत मंत्रियों ने ‘‘ अलग धर्म ’’ की मांग को लेकर आंदोलन चलाया लेकिन अब वे सतर्कता बरत रहे हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि या तो मुद्दा पार्टी के लिए काम कर सकता है या उसपर हिंदू समुदाय को बांटने का आरोप लग सकता है . राज्य मंत्रिमंडल ने 19 मार्च को लिंगायतों और वीरशैव लिंगायतों को धार्मिक अल्पसंख्यक का दर्जा प्रदान करने के लिए केंद्र को सिफारिश करने का फैसला किया था.


वोट बैंक की इस लड़ाइ में बीजेपी भी है सावधान


दूसरी तरफ, मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी इस कदम को अपने वोट बैंक में सेंध लगाने के तौर पर देख रही है और अब तक उसने अपना रूख पूरी तरह साफ नहीं किया. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह राज्य के हालिया दौरे के दौरान लिंगायतों के 10 से ज्यादा मठों में गए थे. इसे समुदाय का समर्थन बनाए रखने का प्रयास बताया गया.


क्या है राज्य की तीसरी बड़ी पार्टी जेडीएस का रूख


कर्नाटक की तीसरी बड़ी पार्टी जेडीएस भी मुद्दे पर सधा हुआ रूख अपना रही है. हालांकि, लिंगायत समुदाय से पार्टी के एक वरिष्ठ नेता बसवराज होरट्टी भी अलग धर्म का दर्जे की मांग को लेकर आंदोलन का हिस्सा थे .

 


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description