Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


अब उन्मुक्त घरेलू सीजन में अब उत्तराखंड के लिए खेलते नजर आएंगे      |      पहले हफ़्ते में ड्रीम गर्ल पर बरसा ख़ूब प्यार, कमाई इतने करोड़ के पार      |      पीएम मोदी ने कहा- मजबूत होंगे दोनों देशों के संबंध      |      उच्च अधिकार प्राप्त GST काउंसिल की 37वीं बैठक हुई      |      अति-वृष्टि प्रभावित गरीब बस्तियों में पहुँचे जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा      |      मुंबई मेट्रो में आम लोगों संग अक्षय कुमार कर रहे थे यात्रा      |      अति-वृष्टि और बाढ़ से प्रदेश को अब तक 11 हजार 906 करोड़ की क्षति अंतर मंत्रालयीन केन्द्रीय दल से तत्काल राहत उपलब्ध कराने का अनुरोध छोटी अवधि के कृषि ऋण को मध्यम अवधि ऋण में बदलने की मांग मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न      |      स्टीव स्मिथ के फैन हो गए हैं सचिन तेंदुलकर      |      27 सितंबर को UNGA को संबोधित करेंगे PM मोदी      |      एयर मार्शल RKS भदौरिया होंगे नए वायुसेना प्रमुख      |      आयुष्मान खुराना ने शेयर की शर्टलेस तस्वीर      |      दिग्‍गज खिलाडि़यों ने नरेंद्र मोदी को 69वें जन्‍मदिन पर दी बधाई      |      'गोपी बहू' का बदला रूप, Bigg Boss 13 में नजर आएंगी Devoleena Bhattacharjee      |      जल स्त्रोतों पर अतिक्रमण को अपराध माना जाएगा : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ      |      भिण्ड जिले में रेस्क्यू ऑपेरशन से 1900 लोग सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाए गए       |      1500 रुपये कमाने वाली महिला बनी केबीसी 11 की दूसरी करोड़पति विजेता      |      सभी विश्वविद्यालय मासिक एवं वार्षिक लक्ष्य आधारित रोड मैप बनाएँ      |      पूर्व खिलाड़ियों ने टीम इंडिया को कुलदीप-चहल मामले में जल्दबाजी नहीं करने की सलाह      |      जब दीपिका पादुकोण भूल गई कि हो चुकी है शादी      |      ; कमल हासन ने कहा- जल्लीकट्टू से बड़ा होगा भाषा आंदोलन      |      प्रभावशाली मुस्लिम देशों ने पाकिस्तान को लगाई लताड़, कहा- पीएम मोदी के खिलाफ बंद करे जुबानी हमले      |      स्टीव स्मिथ ने भारत के खिलाफ बनाया अपना रिकॉर्ड तोड़ा      |      रवीना टंडन और मनीष पॉल के बीच हुई तीखी बहस      |      गोदावरी नदी में 61 लोगों को ले जा रही नाव डूबी      |      विश्वविद्यालयों में शैक्षणिक गुणवत्ता के उच्च मापदण्ड निर्धारित करने के निर्देश      |      युद्ध स्तर पर पूरा करें बारिश से खराब सड़कों के सुधार कार्य : मंत्री श्री वर्मा      |      कपिल देव होंगे हरियाणा स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी के पहले चांसलर      |      बिहार के सनोज राज बने पहले करोड़पति      |      वास्तविक निवेश को प्रोत्साहित किया जाएगा      |      मास्टर प्लान बनाने के लिए सलाहकार समिति का गठन हो      |      

आनंद की बात

स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है. 15 अगस्त (15 August) 1947 को भारत को अंग्रेजों के शासन से आजादी मिली थी और यही कारण है कि
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
भारत में 15 अगस्त बहुत उत्साह और गौरव के साथ मनाया जाता है। 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिली थी। तब से हमारे देश में हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। ...
आगे पढ़ें
कल देश आजादी की सालगिरह के जश्न के साथ-साथ रक्षाबंधन का त्योहार भी मनाएगा। भाई और बहन के लिए ये सबसे बड़ा त्योहार है।...
आगे पढ़ें
अलिबागBookmark and Share

 रायगढ़ जि़ले के कोंकण क्षेत्र में स्थित अलीबाग, महाराष्ट्र के पश्चिमी तट पर बना एक छोटा सा शहर है। यह मुंबई की प्रसिद्ध मैट्रो के पास है। अलीबाग का अर्थ है, अली का बाग। किंवदंतियों के अनुसार अली ने बहुत सारे आम और नारियल के पेड़ लगाए थे। 17वीं शताब्दी में बनी इस जगह की उन्नति शिवाजी महाराज ने की थी। 1852 में इसे 'तालुका' घोषित किया गया। अलीबाग, बेनी इज़राईली यहूदियों का निवास स्थान भी रह चुका है। इतिहास कोलाबा का किला इस बात का साक्षी है कि मराठा साम्राज्य ने भारत के इस भाग पर शासन किया था। यह किला जो इस समय जीर्णावस्था में है, अलीबाग के तट से साफ देखा जा सकता है। पूर्ण ज्वार के दौरान आप इस किले को देखने आ सकते हैं। एक दूसरा किला है, खांडेरी का किला जो लगभग 3 शताब्दी पुराना है। पेशवा वंश में बना यह किला अंग्रेज़ी शासनकाल में अंग्रेज़ों को सौंप दिया गया। कनकेश्वर मंदिर और सोमेश्वर मंदिर ऐसे दो प्रतिष्ठित मंदिर हैं जो यहाँ आने वाले तीर्थयात्रियों के मन में श्रद्धा भर देते हैं। ये दोनों शानदार मंदिर भगवान शिव को समर्पित हैं। यह छोटा सा शहर आज एक व्यापारिक केंद्र है जबकि यहाँ के स्थानीय लोग खेतों व झोपड़ियों में रहते हैं। 'महाराष्ट्र का गोआ' तीन तरफ से पानी से घिरे होने के कारण अलीबाग में बहुत सारे सुंदर तट हैं। सभी तटों के किनारे नारियल और सुपारी के पेड़ होने से सारा इलाका किसी उष्णकटिबंधीय समुद्र तट जैसा लगता है। यहाँ का मौसम बहुत सुहावना होता है और तट बिल्कुल अनछुए से लगते हैं। यहाँ की हवा प्रदूषणरहित व ताज़ी है और तटों का दृष्य किसी स्वर्ग जैसा लगता है। जहाँ अलीबाग तट पर काली रेत आपको आश्चर्यचकित करती है, वहीं किहिम तट और नागाओ तट पर चाँदी सी सफेद रेत बिखरी हुई है। अक्षी तट भी आपको ज़रूर देखना चाहिए। अलीबाग के इन तटों पर अनेक विज्ञापनों, नाटकों व फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है। अगर आप खुशकिस्मत है तो आप किसी बालीवुड सितारे से भी मिल सकते हैं जिनका फार्महाउस या बंगला अलीबाग में है। चूंकि अलीबाग एक तटीय शहर है, इसलिए यहाँ के स्थानीय व्यंजन मछली से बने होते हैं। पोम्फरेट तथा सुरमयी पकवानों के अलावा सोल कढ़ी भी यहाँ का पसंदीदा व्यंजन है। एक मज़ेदार वीकेंड बिताने के लिए अलीबाग के तट एक उत्तम स्थान है जहाँ आप दोस्तों और परिवार के साथ तट के किनारे चहलकदमी कर सकते हैं, पानी में खेल सकते हैं, या फिर शाम को समुद्र में डूबते सूरज को कुछ ही दूर से देख सकते हैं। कब और कैसे पहुँचे अलीबाग अलीबाग का मौसम सुहावना रहता है जहाँ तापमान न बहुत ज्यादा होता है और न बहुत कम। भारत के दूसरे क्षेत्रों की तरह यहाँ ज्यादा गर्मी नहीं होती। अधिकतम तापमान 36डिग्री सेल्सियस होता है। मानसून में सुखद अनुभव होने के बावजूद यहाँ घूमने में कुछ परेशानी हो सकती है। भरपूर बारिश के बावजूद आप वहाँ अपनी जि़म्मेवारी पर जाएं, क्योंकि कहीं ऐसा न हो कि पूरी यात्रा के दौरान आप होटल के कमरे में ही अटक कर रह जाएं। यहाँ आने के लिए सर्दियाँ सबसे अच्छा समय है क्योंकि इस समय का ठंडा व सुहावना मौसम आपकी यात्रा को न केवल शानदार बल्कि यादगार भी बना देगा। क्रिसमस तथा नए साल पर यहाँ आना अच्छा रहेगा। मुंबई से 30कि.मी. दूर अलीबाग, परिवहन के सभी साधनों जैसे- रेल, वायु और सड़क से भलाभांति जुड़ा है। मुंबई का अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा और पेन का रेलवे स्टेशन इसके सबसे निकट है। महाराष्ट्र राज्य के अंदर तथा बाहर के बड़े शहरों से यहाँ आने के लिए राज्य परिवहन और निजी बसें एक अच्छा विकल्प है। नौका भी एक अच्छा विकल्प है जिसमें मुंबई से अलीबाग की दूरी तय करने के लिए अरब सागर की यात्रा एक यादगार अनुभव रहेगा। अलीबाग में वीकेंड बिताने की यह जगह मुलाकात के लिए एक आकर्षक स्थान है जो पर्यटकों की हर इच्छा को पूरी करने का प्रयास करता हैं। प्राचीन तट, ऐतिहासिक किलें और स्थानीय मंदिरों के साथ यह छोटा सा शहर धीमी लेकिन निरंतर प्रगति कर रहा है। महाराष्ट्र का गोआ कहा जाने वाला यह स्थान तत्वमय तटों के कारण आप जैसे लड़के-लड़कियों की पसंदीदा जगह है। बिना कोई समय गवाएं अपना सामान पैक कीजिए और एक वीकेंड बिताने के लिए चले आइए, अलीबाग। यकीन मानिए, तटों से भरपूर यह छोटा सा शहर हमेशा के लिए आपके दिल में बस जाएगा।


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description