Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


टेलर तीनों फॉर्मेट में 100-100 मैच खेलने वाले पहले खिलाड़ी      |       टैबू सब्जेक्ट पर संदेश देने में सफल साबित होती है 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान'      |      प्रधानमंत्री मोदी से मिले मुख्यमंत्री ठाकरे, कहा- सीएए और एनआरसी के मुद्दे पर हमारी कांग्रेस से बातचीत जारी      |      वेजिटेरियन डाइट अपनाकर बनीं देश की नामचीन फिटनेस ट्रेनर      |      / अमेरिकी डेलिगेशन में इवांका भी रहेंगी      |      दिल्ली क्राइम सीजन 2' में असली आईएएस अधिकारी अभिषेक सिंह निभाएंगे ऑफिसर की भूमिका      |       पीएम मोदी ने लिट्‌टी-चोखा का स्वाद चखा      |       एयर इंडिया की शंघाई और हॉन्गकॉन्ग के लिए उड़ानें 30 जून तक रद्द      |      मनमोहन बोले- मोदी सरकार स्लोडाउन स्वीकार नहीं करती      |      सानिया-गार्सिया की जोड़ी दुबई ओपन के प्री-क्वार्टर फाइनल       |      50 करोड़ रुपए कमाने वाली साल की तीसरी फिल्म बनी ‘मलंग’      |      श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की पहली बैठक आज      |      फोर्स ने पेश की नई गुरखा और गुरखा कस्टमाइज      |       राष्ट्रपति ट्रम्प बोले- भारत का बर्ताव हमारे साथ अच्छा नहीं      |      चीन में दवा फैक्ट्रियां बंद होने की वजह से भारत में पैरासिटामॉल की कीमतों में 40% बढ़ोतरी      |       वनडे और टी-20 का चैम्पियंस कप शुरू होगा      |      नेहा कक्कड़ से ब्रेकअप के 14 महीने बाद हिमांश ने तोड़ी चुप्पी      |      जीडीपी / भारत दुनिया का 5वीं बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बना, दो पायदान चढ़कर ब्रिटेन और फ्रांस को पीछे छोड़ा      |      भारत के सुनील कुमार ने 27 साल बाद ग्रीको रोमन में गोल्ड जीता      |      23 दिन कोमा में रहीं, हाेश में आईं तो पति चेहरा देखकर डर गए      |       शमी 3 और बुमराह 2 विकेट लेकर फॉर्म में लौटे      |      आज आधी रात को खत्म हो जाएगा 'बिग बॉस 13' का सफर      |      ट्रम्प ने फेसबुक पर खुद को नंबर 1 और मोदी को नंबर 2 बताया, लेकिन हकीकत में उनके प्रधानमंत्री से आधे फॉलोअर्स      |      राज्यपाल द्वारा पद्मश्री बशीर बद्र को जन्म-दिन की शुभकामनाएँ      |       एयरपोर्ट से उड़ान भरने जा रहे एयर इंडिया के विमान के सामने जीप आई      |      उदित नारायण बोले, 'इंडियन आइडल 11 की टीआरपी बढ़ाने के लिए हो रहा नाटक      |       केजरीवाल को जीत दिलाने वाली रणनीति का पहली बार खुलासा      |      मेरा स्वप्न है कि हर व्यक्ति को घर पर मिले शुद्ध जल : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ पानी की उपलब्धता समाज और सरकार के सामने सबसे बड़ी चुनौती मुख्यमंत्री द्वारा राइट टू वाटर विषयक राष्ट्रीय जल सम्मेलन का शुभारंभ      |      युवाओं को विश्व-स्तरीय निजी सुरक्षा ट्रेनिंग देने स्थापित होंगे सेंटर ऑफ एक्सीलेंस संस्थान      |      केंद्र की याचिका पर निर्भया के दोषियों को नोटिस      |      

आनंद की बात

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं और 12वीं के लिए टेली काउंसलिंग 1 फरवरी से शुरू होगी।
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
Realme X50 5G चीन में लॉन्च करने के बाद अब कंपनी भारत में Realme 5i लॉन्च कर दिया है। एक स्पेशल इवेंट में धमाका करते हुए Realme ने इस स्मार्टफोन को महज 8,999 रुपए के प्राइज टैग कै साथ ...
आगे पढ़ें
सरकारी गेहूं की बिक्री में इसके भाव घटने की आशंका से कमी रही। लेवाल सतर्क होने से इस बार कुल 25 लाख क्विंटल के कोटे में से 4 लाख क्विंटल माल ही बिक पाया है।...
आगे पढ़ें
भगवान कृष्ण की जन्मभूमि मथुराBookmark and Share

 कृष्ण का जन्म मथुरा के कारागार में हुआ था। पिता का नाम वासुदेव और माता का नाम देवकी। दोनों को ही कंस ने कारागार में डाल दिया था। उस काल में मथुरा का राजा कंस था, जो श्रीकृष्ण का मामा था। कंस को आकाशवाणी द्वारा पता चला कि उसकी मृत्यु उसकी ही बहन देवकी की आठवीं संतान के हाथों होगी। इसी डर के चलते कंस ने अपनी बहन और जीजा को आजीवन कारागार में डाल दिया था।
मथुरा यमुना नदी के तट पर बसा एक सुंदर शहर है। मथुरा जिला उत्तरप्रदेश की पश्चिमी सीमा पर स्थित है। इसके पूर्व में जिला एटा, उत्तर में जिला अलीगढ़, दक्षिण-पूर्व में जिला आगरा, दक्षिण-पश्चिम में राजस्थान एवं पश्चिम-उत्तर में हरियाणा राज्य स्थित हैं। मथुरा, आगरा मण्डल का उत्तर-पश्चिमी जिला है। मथुरा जिले में चार तहसीलें हैं- मांट, छाता, महावन और मथुरा तथा 10 विकास खण्ड हैं- नन्दगांव, छाता, चौमुहां, गोवर्धन, मथुरा, फरह, नौहझील, मांट, राया और बल्देव हैं। 
मथुरा भारत का प्राचीन नगर है। यहां पर से 500 ईसा पूर्व के प्राचीन अवशेष मिले हैं, जिससे इसकी प्राचीनता सिद्ध होती है। उस काल में शूरसेन देश की यह राजधानी हुआ करती थी। पौराणिक साहित्य में मथुरा को अनेक नामों से संबोधित किया गया है जैसे- शूरसेन नगरी, मधुपुरी, मधुनगरी, मधुरा आदि। उग्रसेन और कंस मथुरा के शासक थे जिस पर अंधकों के उत्तराधिकारी राज्य करते थे।

जहां का जन्म हुआ पहले वह कारागार हुआ करता था। यहां पहला मंदिर 80-57 ईसा पूर्व बनाया गया था। इस संबंध में महाक्षत्रप सौदास के समय के एक शिलालेख से ज्ञात होता है कि किसी 'वसु' नामक व्यक्ति ने यह मंदिर बनाया था। इसके बहुत काल के बाद दूसरा मंदिर सन् 800 में विक्रमादित्य के काल में बनवाया गया था, जबकि बौद्ध और जैन धर्म उन्नति कर रहे थे। 
इस भव्य मंदिर को सन् 1017-18 ई. में महमूद गजनवी ने तोड़ दिया था। बाद में इसे महाराजा विजयपाल देव के शासन में सन् 1150 ई. में जज्ज नामक किसी व्यक्ति ने बनवाया। यह मंदिर पहले की अपेक्षा और भी विशाल था, जिसे 16वीं शताब्दी के आरंभ में सिकंदर लोदी ने नष्ट करवा डाला।


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description