Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


आशा नेगी अनुराग बासु की फिल्म मेट्रो 2 से रखेंगी बॉलीवुड में कदम      |      शांडिल्य महाराज की पालकी यात्रा में शामिल हुए मंत्री श्री शर्मा      |      पाक से अब सिर्फ पीओके पर बात होगी: राजनाथ      |      मस्सों से आप भी हैं परेशान तो ये उपाय आएंगे बेहद काम      |      उत्कृष्ट सेवाओं के लिये सम्मानित व्यक्ति इतिहास बनाता है : राज्यपाल श्री टंडन      |      राजभवन में स्वतंत्रता दिवस पर हुआ स्वागत समारोह       |      मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने 63 कर्तव्यनिष्ठ अधिकारियों को प्रदान किए राष्ट्रपति पदक      |      धमाकेदार विदाईः आखिरी मुकाबले में भी दिखाया 'गेल वाला क्रिकेट      |      सशस्त्र सेना बलों में युवाओं की भागीदारी बढ़ाने के प्रयास होंगे : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ       |      रक्षा बंधन पर पाएं सेलेब्स जैसा क्लासी लुक      |      स्‍वतंत्रता दिवस पर सुनिए कुमार विश्‍वास की कविता       |      स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया देश को संबोधित, तीन तलाक-370 का किया जिक्र      |      भारत की आजादी के लिए क्यों चुनी गई 15 अगस्त की तारीख?      |      महिला टी20 क्रिकेट को बर्मिंघम 2022 कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में किया गया शामिल      |      बटला हाउस की रिलीज को दिल्ली हाईकोर्ट से मिली हरी झंडी      |      विधान की मूल भावना है सभी वर्गों को न्याय मिले      |      राजभवन में स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर कवि सम्मेलन       |      जियो के 'फर्स्ट डे फर्स्ट शो' सर्विस से क्या डरे हुए हैं मल्टीप्लेक्स मालिक?      |      मौसम विज्ञान विभाग की तरफ से देश के हर राज्य में अच्छी बारिश की आशंका जताई       |      वीरेंद्र सहवाग बोले- मुझे सलेक्टर बनना है      |      दिशा वकानी की वापसी पर नया ट्विस्ट,दिलीप जोशी ने किया खुलासा      |      मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने सुश्री मेघा परमार को बधाई दी      |      जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान घबराया हुआ      |      विराट कोहली शतक ठोककर आउट      |      शिवानी शिवाजी रॉय के रूप मे नजर आईं रानी      |      मंत्री श्री शर्मा द्वारा 20 लाख के विकास कार्यों का भूमि-पूजन      |      राज्यपाल श्री लालजी टंडन का प्रदेश में पहला स्वतंत्रता दिवस      |      अमित शाह ने कर्नाटक में बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया      |      मंत्री श्री शर्मा ने छात्र-संघ को दिलाई शपथ      |      मैरीकाॅम के सिलेक्शन पर खेल मंत्रालय ने बॉक्सिंग फेडरेशन से जवाब मांगा      |      

आनंद की बात

स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है. 15 अगस्त (15 August) 1947 को भारत को अंग्रेजों के शासन से आजादी मिली थी और यही कारण है कि
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
भारत में 15 अगस्त बहुत उत्साह और गौरव के साथ मनाया जाता है। 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रेजों की गुलामी से आजादी मिली थी। तब से हमारे देश में हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। ...
आगे पढ़ें
कल देश आजादी की सालगिरह के जश्न के साथ-साथ रक्षाबंधन का त्योहार भी मनाएगा। भाई और बहन के लिए ये सबसे बड़ा त्योहार है।...
आगे पढ़ें
विद्यार्थियों के बौद्धिक विकास के साथ शारीरिक विकास पर भी ध्यान दें शिक्षण संस्थानBookmark and Share

 

उप राष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि देश के शैक्षणिक संस्थान बौद्धिक विकास के साथ विद्यार्थियों के शारीरिक विकास पर भी ध्यान दें। उन्हें तकनीकी शिक्षा के साथ शारीरिक शिक्षा और योग की शिक्षा भी दी जाये। उन्होंने कहा कि‍ शिक्षा से मनुष्य सभ्य, सुसंस्कृत और संस्कारित होता है। शिक्षा का उद्देश्य परिवार, समाज और देश की सेवा करना है। शिक्षा से मनुष्य देश का जिम्मेदार नागरिक बनता है। उप राष्ट्रपति श्री नायडू ने आज श्री वैष्णव विद्यापीठ विश्वविद्यालय, इंदौर के द्वितीय दीक्षान्त समारोह में विद्यार्थियों और शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए यह बात कही।

श्री नायडू ने कहा कि शिक्षा, अस्पताल और राजनीति समाज सेवा के क्षेत्र हैं। समाज सेवा सभी धर्मों का सार है। श्री वैष्णव सहायक ट्रस्ट पिछले 135 साल से स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, तकनीकी शिक्षा के माध्यम से नो-प्रॉफिट-नो लॉस के फॉर्मूले पर काम करते हुए सराहनीय कार्य कर रहा है।

भारतीय संस्कृति में 'सर्वे भवन्तु सुखिन:' की शिक्षा

उप राष्ट्रपति श्री नायडू ने कहा कि भारतीय संस्कृति में 'सर्वे भवन्तु सुखिन:, सर्वे सन्तु निरामया, सर्वे भद्राणि पश्यन्तु, मा कश्चित् दुखभाग् भवेत' की परिकल्पना की गई है। भारतीय संस्कृति हमें एक साथ जीने, एक साथ खाने और एक साथ रहने की शिक्षा देती है। हजारों साल पहले आचार्य चाणक्य ने कहा था 'अयम् निज: परावेति, गणना लघुचेतसाम्, उदारचरितानाम् तु वसुधैव कुटुम्बकम्।' उन्होंने उस युग में सम्पूर्ण धरती को परिवार माना था। आचार्य चाणक्य दुनिया के प्रथम अर्थशास्त्री थे, जिन्होंने कर प्रणाली की शुरुआत की।

            प्राचीन काल में भारत था विश्वगुरु

उन्होंने कहा कि प्राचीन काल में भारत विश्व गुरु था। नालंदा और तक्षशिला जैसे विश्वविद्यालय थे, जहां दस हजार से अधिक विद्यार्थी पढ़ते थे। प्राचीन भारत में सुश्रुत, धनवन्तरि, भास्कराचार्य और वराहमिहिर जैसे मूर्धन्य विद्वान हुए हैं। आचार्य सुश्रुत ने दुनिया को पहली बार सामान्य सर्जरी और प्लास्टिक सर्जरी की प्रक्रिया बतायी। मध्य युग में हमारा देश मुगलों और अग्रेजों का गुलाम हो गया। उन्होंने इस देश को लूटा और धोखा दिया, जिसके कारण हम पिछड़ गये। अब हम उदारीकरण, निजीकरण, स्टैण्डअप और स्टार्टअप के जरिये भारत को विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थ-व्यवस्था बनाना चाहते हैं। भारत में इंदिरा नुई और सुंदर पिचाई जैसे असाधारण प्रबंधक हैं।


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description