Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


कार 400 मीटर गहरी खाई में गिरी      |       पंजाब और जम्मू में आतंकी हमले की आशंका, मिलिट्री और एयरबेस पर ऑरेंज अलर्ट      |      "मैग्नीफिसेंट मध्यप्रदेश" बनाना हमारा लक्ष्य      |      सचिन ने कहा- आईसीसी का बाउंड्री नियम में बदलाव सही      |      अक्षय की 'हाउसफुल 4' बनी 'प्रमोशन ऑन व्हील्स'       |      ऑस्ट्रेलिया में 2020 में होने वाले आइसीसी महिला टी-20 विश्व कप के विजेता को अब दस लाख डॉलर करीब चार करोड़ 83 लाख       |      सनी कौशल की फ़िल्म 'भंगड़ा पा ले      |      उच्च आदर्शों को कार्य का लक्ष्य बनायें : राज्यपाल श्री टंडन      |      मैग्नीफिसेंट एमपी-2019 के विशेष सत्रों का शेड्यूल जारी      |      आम आदमी के लिए जन सुविधाएँ बढ़ाना शासन का लक्ष्य : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ      |      आलिया भट्ट को भाभी बनाने के सवाल पर बोलीं करीना- उस दिन सबसे ज्यादा खुशी मुझे होगी      |       विरोधी अपनी टीम संभालने के लिए जूझ रहे      |      लोगों के सवालों पर मोदी ने बताया- प्लॉगिंग के वक्त हाथ में एक्यूप्रेशर रोलर था      |      मंजू रानी फाइनल में हारीं, रजत से संतोष करना पड़ा; टूर्नामेंट में भारत के 4 पदक      |      ईद पर 'राधे' बनकर लौटेंगे सलमान खान      |      महर्षि वाल्मीकि ने मानवता और समाज को नई दिशा दी : जनसम्पर्क मंत्री       |      मैग्निफिसेंट एमपी से विकास को मिलेगी रफ्तार : मंत्री श्री शर्मा      |      पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट असोसिएशन स्टेडियम सुरक्षा में बड़ी चूक नजर आई      |      हिना खान, एरिका फर्नांडिस, सुरभि चंदना जैसे कलाकारों ने बिखेरा जलवा      |      छिन्दवाड़ा जिले की महत्वपूर्ण परियोजनाएँ समय-सीमा में पूर्ण करें- मुख्यमंत्री श्री नाथ      |      न्याय प्रणाली देश की प्रजातांत्रिक व्यवस्था की नींव : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ      |      चिकित्सकीय शोध कार्यों में प्राचीन भारतीय चिकित्सा पद्धति से सामंजस्य बनाना जरूरी      |      केंद्रीय मंत्री रविशंकर बोले- देश में मंदी नहीं      |      चुनाव में लोढा समिति के सुझावों की अनदेखी ll      |      ऑफ-शोल्डर गाउन में करीना कपूर खान का दिखा हॉट अवतार, इस अंदाज में आईं नजर      |      विश्वविद्यालय आर्थिक आत्म-निर्भरता के लिए करें ठोस प्रयास      |      राष्ट्रीय उद्यानों में इलेक्ट्रिक वाहनों के उपयोग पर विचार हो - मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ      |      विश्वविद्यालय आर्थिक आत्म-निर्भरता के लिए करें ठोस प्रयास      |      चीन के राष्‍ट्रपति महाबलीपुरम में पीएम मोदी के साथ 'महामुलाकात'      |      बदलते वैश्विक दौर में हस्तशिल्प और हथकरघा क्षेत्र का विकास चुनौतीपूर्ण      |      

आनंद की बात

HMD Global ने कन्फर्म किया है की उसके एंट्री लेवल Nokia स्मार्टफोन्स को Android 10 Go Edition अपडेट मिलेगा। H
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
टीम इंडिया और मुंबई इंडियंस के स्‍टार ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की लंदन में पीठ के निचले हिस्‍से की सफल सर्जरी हुई। ...
आगे पढ़ें
हारवर्ड टी. एच. चैन स्कूल आॅफ़ पबलिक हेल्थ के पोषण वैज्ञानिकों, और हारवर्ड हेल्थ पबलिकेशंज़ के संपादकों द्वारा बनायी गयी स्वस्थ भोजन की थाली संतुलित, स्वस्थ भोजन तैयार करने के लिए एक गाइड है – चाहे वह थाली में परोसा जाऐ, या खाने के डब्बे में डाला जाए। ...
आगे पढ़ें
विधान की मूल भावना है सभी वर्गों को न्याय मिलेBookmark and Share

 मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि संविधान की मूल अवधारणा है कि सभी वर्गों के साथ न्याय हो। संविधान की इसी सोच के साथ मध्यप्रदेश सरकार काम कर रही है। प्रदेश में हर वर्ग को न्याय मिले और नौजवानों को रोजगार मिले। श्री नाथ आज समन्वय भवन में दलित पिछड़ा अधिकार मोर्चा द्वारा पिछड़े वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण देने के निर्णय पर आयोजित सम्मान एवं आभार समारोह को संबोधित कर रहे थे।


मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि हम किसी वर्ग को आरक्षण नहीं दे रहे हैं बल्कि संविधान की भावना के अनुसार उन्हें न्याय दे रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि न्याय का यही सिद्धांत आज हमें सभी प्रकार की अनेकता के बाद भी एकता के सूत्र में पिरोए हुए हैं। आज कोई वर्ग न्याय से वंचित होगा, तो हम संविधान की मूल भावना को आघात पहुंचायेंगे। न्याय से जुड़े रहेंगे, तो देश निरंतर प्रगति करता जाएगा। उन्होंने कहा कि संविधान को न्याय से जोड़ने का काम इसके निर्माता बाबा साहेब अंबेडकर ने किया। उन्होंने कहा कि हमारे विशाल देश को दो शक्तियों ने एकजुट कर रखा है। एक हमारी अनेकता में एकता और दूसरी आध्यात्मिक शक्ति है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा संविधान इतना महान है कि इसे कई देशों ने अपनाया है। हमें संविधान की रक्षा करना है, इसे अक्षुण्ण बनाए रखना है।


मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती हर एक नौजवान को काम देने की है। यह तभी संभव होगा, जब प्रदेश में निवेश आए, उद्योग धंधे लगें, आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि हो। इसके लिए जरूरी है कि प्रदेश के प्रति निवेशकों का विश्वास बढ़े। सरकार निवेशकों के विश्वास को लौटाने का निरंतर प्रयास कर रही है।


मुख्यमंत्री ने पिछड़ा वर्ग के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा इस वर्ग ने उन्हें जो प्यार और विश्वास दिया है, उससे उन्हें बल मिला है, सभी वर्गों के सर्वांगीण विकास के लिए शक्ति मिली है। मुख्यमंत्री ने पूर्व उप मुख्यमंत्री श्री सुभाष यादव का स्मरण करते हुए कहा कि पिछली बार मैंने समन्वय भवन का नामकरण स्व. श्री सुभाष यादव के नाम पर करने को कहा था। आज इस भवन पर उनका नाम देखकर बेहद खुशी हुई। उन्होंने कहा कि वर्ष 1980 में मैं और यादव जी सांसद थे। उनसे मेरा गहरा रिश्ता था। पिछड़ा वर्ग समाज के लिए वे हमेशा चिंतित रहते थे।


उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि आज मंत्रि-मंडल में सर्वाधिक 40 प्रतिशत पिछड़े वर्ग के मंत्री शामिल हैं। इन सभी मंत्रियों पर महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी है। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ पिछड़े वर्ग को उनकी आबादी के अनुसार 27 प्रतिशत आरक्षण देने के साथ ही हर क्षेत्र में पूरा सम्मान और अधिकार भी दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ऐतिहासिक फैसले ले रहे हैं, वह भी प्रचार-प्रसार से दूर रह कर। उनका विश्वास सिर्फ काम करने में है। काम का लाभ जरूरतमंदों को मिले, यह सुनिश्चित करना मुख्यमंत्री का लक्ष्य है।


पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल और कुटीर, ग्रामोद्योग एवं नवीन नवकरणीय उर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव ने कहा कि 27 प्रतिशत आरक्षण देकर मुख्यमंत्री ने पिछड़े वर्ग को एतिहासिक सौगात दी है। पशुपालन मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जो न्याय पिछड़ा वर्ग को दिया है, उसके लिए पूरा वर्ग उनके साथ दृढ़ता के साथ खड़ा हैं। किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव ने कहा कि प्रदेश की आधी आबादी पिछड़ा वर्ग को पहली बार न्याय मिला है।


समारोह में मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ को दलित पिछड़ा अधिकार मोर्चा के अध्यक्ष श्री दामोदर सिंह ने माँ पीताम्बरा देवी का चित्र भेंट किया। इस मौके पर मध्यप्रदेश राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री अशोक सिंह , विधायक श्री कुणाल चौधरी एवं बड़ी संख्या में पिछड़ा वर्ग समाज के लोग उपस्थित थे।


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description