Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


पूर्व भारतीय क्रिकेटर चेतन चौहान कोरोना से संक्रमित      |      धूम मचा रहा निरहुआ और शुभी शर्मा का ये रोमांटिक भोजपुरी सॉन्ग      |      अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव पाए गए      |      कृषि मंत्री श्री पटेल ने फसलों का लिया जायजा      |      मास्क न पहनने वाले व्यक्तियों के लिए होगा रोको-टोको कार्यक्रम      |      इंग्लैंड का स्कोर 249/4      |      श्रद्धा कपूर के इंस्टाग्राम पर हुए 5 करोड़ फॉलोअर्स      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान स्पेश‍लिटी हॉस्पिटल पहुँचे      |      सभी के सहयोग से कोरोना को पराजित करेंगे      |      कोरोना की मैदानी स्थिति जानने मुख्यमंत्री श्री चौहान पहुँचे ग्वालियर-मुरैना      |      राहुल जौहरी का इस्तीफा बीसीसीआई ने स्वीकार किया      |      तापसी पन्नू को याद आईं बीते समय की चुनौतियां      |      महाराष्ट्र में 7,800 से अधिक नए मामले सामने आए       |      मुख्यमंत्री श्री चौहान 11 जुलाई को मुरैना में करेंगे पथ-व्यवसाइयों से संवाद      |      गत एक सप्ताह में प्रदेश में मृत्यु दर में उल्लेखनीय गिरावट      |      कोरोना वायरस की वजह से एशिया कप रद्द हुआ, अगले साल जुलाई में होगा आयोजन      |      कई महीनों के बाद वापस शूटिंग पर जाना काफी अच्छा अनुभव रहा: आयुष्मान खुराना      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मध्यप्रदेश पुलिस को दुर्दान्त अपराधी पकड़ने पर दी बधाई      |      प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 10 जुलाई को विश्व की बड़ी सौर परियोजनाओं में शामिल रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर परियोजना राष्ट्र को समर्पित करेंगे      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर परियोजना कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा की      |      सौरव गांगुली भारतीय क्रिकेट का पहला चेहरा थे जिन्होंने टीम को विदेशों में मैच जीतने का विश्वास दिलाया      |      पूजा भट्ट ने कंगना रनौत को भट्ट द्वारा लॉन्च किए जाने की बात याद दिलाई      |      गुजरात पर जारी रहेगी मौसम की मार      |      मध्यप्रदेश में “खेलो इंडिया लघु केंद्र" योजना की शुरूआत      |      जब सरकार है तो साहूकार के पास जाने की क्या जरूरत है      |       8 जुलाई को इंग्लैंड और वेस्टइंडीज की टीमें आमने सामने होंगी      |      नीना गुप्ता ने भी अपने सोशल मीडिया पर एक वीडियो के जरिए सरोज खान को श्रद्धांजलि दी      |      सीबीएसई ने 9वीं से 12वीं तक के छात्रों का 30 फीसद पाठ्यक्रम किया कम      |      आदिवासी क्षेत्रों में प्राथमिकता से सिंचाई परियोजनाएं बनाएं - जल संसाधन मंत्री      |      रोगी को सड़क पर छोड़ जाने की घटना अमानवीय और निंदनीय      |      

आनंद की बात

दुनिया में अब तक 211597 लोगों की जान ले चुका है। अभी तक जितने शोध सामने आए हैं उनमें ये बात सामने आ चुकी है कि कुछ मरीजों में इस वायरस के शुरुआती लक्षण दिखाई नह
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून को लगने जा रहा है। खास बात ये हैं कि ये वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा जिसमें चंद्रमा सूर्य का करीब 98.8% भाग ढक देगा। ...
आगे पढ़ें
कोरोनो वायरस महामारी ने दुनिया के लगभग सभी हिस्सों में चिंता और दहशत पैदा कर दी है, लेकिन बुज़ुर्गों, मधुमेह और हृदय की समस्याओं, धूम्रपान करने वाले लोगों और गर्भवती महिलाओं को COVID-19 के लिए उच्च जोखिम वाली श्रेणी में रखा गया है।...
आगे पढ़ें
एक किताब, एक शिक्षक, एक विद्यार्थी बदल सकते हैं देश-दुनिया की तस्वीरBookmark and Share

 डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन शोध परक शिक्षा के प्रणेता थे। उन्होंने भारत के उप राष्ट्रपति और राष्ट्रपति जैसे संवैधानिक पदों पर रहते हुए भी पूरा जीवन शिक्षकीय दायित्व निभाया। डॉ. राधाकृष्णन का मानना था कि एक किताब, एक शिक्षक और एक विद्यार्थी देश और दुनिया की तस्वीर बदल सकते हैं। इसलिये शिक्षकों का दायित्व है कि वे शिक्षा के मूल उद्देश्यों के साथ विद्यार्थियों को ज्ञान दें। विद्यार्थियों को ज्ञान का समाज हित में अधिक से अधिक उपयोग करने के लिये प्रेरित करें। राज्यपाल श्री लालजी टंडन ने राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के 21 वें स्थापना दिवस और भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस समारोह में यह बात कही। राज्यपाल ने डॉ. राधाकृष्णन का स्मरण करते हुए शिक्षकों, छात्रों और कुलपतियों से कहा कि शिक्षा की गुणात्मकता, उपयोगिता और सार्थकता को प्रतिष्ठापित करें।


राज्यपाल ने कहा कि आज हम शिक्षा के मूल स्रोत और उद्देश्य से भटक गये हैं। हजारों साल पुरानी शिक्षण पद्धति को छोड़ अंग्रेजों द्वारा लादी गयी शिक्षा पद्धति का अनुसरण कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें अब पुरानी नींव पर नया निर्माण कर शिक्षा के क्षेत्र में बदलाव लाना होगा। पूर्वजों के अविष्कारों को भारत की समृद्ध ज्ञान परम्परा के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि अभी तक तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में जो कार्य और नवाचार हुए हैं, आपको उससे आगे की यात्रा शुरू करना है, जिससे देश और अधिक समृद्ध तथा खुशहाल हो सके।

यह तकनीकी क्रांति की सदी है - मंत्री श्री बच्चन

तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री श्री बाला बच्चन ने कहा कि पिछली सदी औद्योगिक क्रांति की थी। यह सदी तकनीकी क्रांति की है। उन्होंने कहा कि राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय ने नवाचारों के माध्यम से देश के तकनीकी विकास में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने वर्तमान आश्यकता को देखते हुए आर्टिफिशियल इंटेलीजेंसी को बढ़ावा देने की बात कही। साथ ही तकनीक शिक्षा और उद्योगों में समन्वय स्थापित कर रोजगार बढ़ाने की दिशा में प्रदेश सरकार की ओर से पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।

भारत तकनीकी शिक्षा का सबसे बड़ा केन्द्र बनने की ओर अग्रसर

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के उपाध्यक्ष श्री एम.पी. पूनिया ने कहा कि राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय का तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने कहा कि भारत तकनीकी शिक्षा का सबसे बड़ा केन्द्र बनने की ओर अग्रसर है। देश में प्रतिवर्ष लगभग 37 लाख एडमीशन तकनीकी शिक्षा पाठ्यक्रम में हो रहे हैं। उन्होंने शिक्षकों से कहा कि आप पर समाज का विश्वास होता है, जिसे कायम रखना आप सभी का दायित्व है। अपने चरित्र को पारदर्शी बनाये रखना और क्लास में पूरी तैयारी के साथ जाने पर ही आप वास्तविक शिक्षक की जिम्मेदारी निभा पायेंगे। उन्होंने छात्र समुदाय से तकनीकी शिक्षा से गांवों के विकास और किसानों की समृद्धि के लिये नवाचार करने का आव्हान किया।

विश्वविद्यालय के कुलपति श्री सुनील गुप्ता ने कहा कि हमारी प्राचीन और वर्तमान ज्ञानार्जन पद्धति में एक बड़ा फर्क हम सभी महसूस कर रहे हैं। तकनीकी विकास के कारण अब ज्ञान प्राप्त करना उतना कठिन नहीं रहा लेकिन आज भी उस ज्ञान का उपयोग देश और समाज हित में करने की जरूरत है।

राज्यपाल श्री टंडन ने विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपतियों का सम्मान किया। राज्यपाल ने परिसर में अमलतास का पौधा भी लगाया।

पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description