Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


कोरोना संकट के कारण अद्वैतवाद का पुनर्जागरण हो रहा है: राज्यपाल      |      सौरव गांगुली ने IPL के आयोजन पर चल रही खबरों पर लगाया विराम      |      सोनू सूद ने 1000 से अधिक यूपी-बिहार के प्रवासी मजूदरों को भेजा घर      |      महाराष्ट्र और गुजरात में आने वाला है चक्रवात निसर्ग      |      कंटेनमेंट मुक्त हुआ राजभवन      |      एलोपैथी न हौम्योपैथी सबसे कारगर सिम्पैथी : मंत्री डॉ. मिश्रा      |      हार्दिक पांड्या शादी से पहले बनने जा रहे हैं पिता      |      जी-7 की जगह जी-11      |      दुर्लभ संकटापन्न प्रजातियों के एक करोड़ पौधे तैयार      |      पाँचवें चरण का लॉकडाउन, अनलॉक 1.0 का चरण होगा      |      कोरोना संकट के बीच टी20 वर्ल्ड कप रद्द करना बेहतर विकल्प: संगकारा      |      चीन के विरोध में एक्टर मिलिंद सोमन का ऐलान      |      मोदी नाम नहीं, मंत्र है जो ऊर्जा भरता है : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      वरिष्ठ चिकित्सक रोज वार्डों में जाएं, मरीजों को सर्वोत्तम इलाज दें      |      जानवरों से मनुष्यों में कैसे पहुंचा कोरोना वायरस      |      कई क्लासिक फ़िल्मों के गीतकार योगेश का निधन      |      छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन      |      पीएम मोदी से मिले शाह      |      बिलिंग, राजस्व संग्रहण एवं विद्युत आपूर्ति प्रभावी ढंग से करें      |      भोपाल में खेल गतिविधियां प्रारंभ करने के लिए खेल विभाग ने तैयार की गाइड लाइन       |      आईसीसी ने टी-20 वर्ल्ड कप के भविष्य को लेकर होने वाला फैसला 10 जून के लिए टाल दिया      |      महिला ने सोनू सूद से लगाई पार्लर पहुंचाने की गुहार      |      "रोजगार सेतु" योजना के अंतर्गत सर्वेक्षण प्रारंभ      |      जनकल्याण के लिए आयुर्वेदिक ज्ञान का वैज्ञानिक विश्लेषण आवश्यक: राज्यपाल श्री टंडन      |      भारत में टिड्डियों के दल ने हमला किया      |      बुमराह एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी      |      अमिताभ बच्चन बांट रहे हैं फूड पैकेट      |      ग्रामीणों और केन्द्रीय टिड्डी नियंत्रण दल के अधिकारियों से सतत् सम्पर्क करें      |      नई दृष्टि और नई दिशा के साथ हो गौ-संरक्षण: श्री टंडन      |       वेस्टइंडीज की टेस्ट टीम ने ट्रेनिंग की शुरूआत कर दी       |      

आनंद की बात

दुनिया में अब तक 211597 लोगों की जान ले चुका है। अभी तक जितने शोध सामने आए हैं उनमें ये बात सामने आ चुकी है कि कुछ मरीजों में इस वायरस के शुरुआती लक्षण दिखाई नह
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
चीनी कंपनी iQOO भारतीय बाजार में 5G स्मार्टफोन के साथ उतर रही है। देश में 5G फोन के साथ कदम रखने वाली ये पहली कंपनी भी है। ...
आगे पढ़ें
कोरोनो वायरस महामारी ने दुनिया के लगभग सभी हिस्सों में चिंता और दहशत पैदा कर दी है, लेकिन बुज़ुर्गों, मधुमेह और हृदय की समस्याओं, धूम्रपान करने वाले लोगों और गर्भवती महिलाओं को COVID-19 के लिए उच्च जोखिम वाली श्रेणी में रखा गया है।...
आगे पढ़ें
भिण्ड जिले में रेस्क्यू ऑपेरशन से 1900 लोग सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाए गए Bookmark and Share

 मन्दसौर में अत्यधिक बारिश होने तथा कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने से भिण्ड जिले में चंबल नदी उफान पर है। इससे अटेर और भिण्ड क्षेत्र के  चंबल नदी के  किनारे बसे 44 गाँव प्रभावित हो रहे हैं। चम्बल नदी का जल-स्तर बढ़ने से सबसे ज्यादा  प्रभावित गाँव मुकुटपुरा, दिन्नपुरा नावली वृन्दावन, रमा कोट, खैराहट, नखनोली की मढ़ैयन, कोसण की मढ़ैयन, चीलोंगा, चौमहो, कछपुरा, तरशोखर हैं। इन गाँव में फँसे लोगों को प्रशासन द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर  राहत शिविरों में पहुँचाया जा रहा है। बाढ़ग्रस्त गाँवों में प्रशासन द्वारा बार-बार समझाने पर भी कई लोग गाँव छोड़ कर जाने से इन्कार कर रहे हैं।

अभी तक गाँव नखनोली, रमाकोट, कोषण, नावली वृन्दावन, मुकुटपुरा चौमहो, कछपुरा, तरशोखर एवं दिन्नपुरा से लगभग 1900 से ज्यादा लोगों को  रेस्क्यू कर सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। रेस्क्यू किए गए 900 से ज्यादा लोगों को   जिला प्रशासन द्वारा बनाये गए राहत शिविरों में पहुँचा  दिया गया है। बाकी बचे लोग अपने रिश्तेदारों और मिलने वालों  के यहाँ सुरक्षित स्थानों पर चले गए हैं। जिला प्रशासन, होमगॉर्ड, सेना और एसडीआरएफ  द्वारा लगातार लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर पहुँचाया जा रहा है।

कलेक्टर भिण्ड श्री छोटे सिंह और पुलिस अधीक्षक श्री रुडोल्फ अल्वारेस बाढ़ की स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। ये अधिकारी बाढ़ प्रभावित स्थानों पर चलाए जा रहे रेस्क्यू आपरेशन में स्वयं मौजूद रह कर स्थिति पर पकड़ बनाये हुए हैं। साथ ही राहत शिविरों में सभी व्यवस्थाओं की निरंतर मॉनिटरिंग भी कर रहे हैं। 

राहत शिविरों में किये गये सभी जरूरी इंतजाम

जिला प्रशासन द्वारा  रोशनलाल दैपुरिया महाविद्यालय सुरपुरा, हाईस्कूल विण्डवा , आईटीआई अटेर, मघेरा, हाई स्कूल रमाकोट में बनाये गये राहत शिविरों में लाये गए लोगों के लिये भोजन, पानी, सोने की व्यवस्था आदि आवश्यक इन्तजाम खाद्य विभाग द्वारा किए जा रहे हैं। सभी राहत शिविरों में मेडिकल टीमें पूरी तैयारी के साथ तैनात हैं। पशुओं के ईलाज के लिये पशु चिकित्सक तैनात किये गये हैं।

शासकीय अधिकारियों- कर्मचारियों की छुट्टियाँ निरस्त

 

कलेक्टर ने सभी शासकीय अधिकारियों-कर्मचारियों की छुट्टियाँ तत्काल प्रभाव से निरस्त  कर सभी को कार्य पर लौटने का आदेश जारी कर दिया है। आपदा प्रबंधन से जुड़े कर्मचारी, अधिकारी पूरी तरह से सहयोग कर रहे हैं। होमगार्ड्स को नाव, बोट सहित सभी सुरक्षा साधन उपलब्ध कराये गये हैं। जल संसाधन और सेतु विकास निगम के सुरक्षा अधिकारी और राजस्व का पूरा अमला इस मुहिम में लगा हुआ है और लगातार मोबाइल, दूरभाष सहित वायरलैस से आपस में सम्पर्क में बने हुए हैं।


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description