Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


कई क्लासिक फ़िल्मों के गीतकार योगेश का निधन      |      छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का निधन      |      पीएम मोदी से मिले शाह      |      बिलिंग, राजस्व संग्रहण एवं विद्युत आपूर्ति प्रभावी ढंग से करें      |      भोपाल में खेल गतिविधियां प्रारंभ करने के लिए खेल विभाग ने तैयार की गाइड लाइन       |      आईसीसी ने टी-20 वर्ल्ड कप के भविष्य को लेकर होने वाला फैसला 10 जून के लिए टाल दिया      |      महिला ने सोनू सूद से लगाई पार्लर पहुंचाने की गुहार      |      "रोजगार सेतु" योजना के अंतर्गत सर्वेक्षण प्रारंभ      |      जनकल्याण के लिए आयुर्वेदिक ज्ञान का वैज्ञानिक विश्लेषण आवश्यक: राज्यपाल श्री टंडन      |      भारत में टिड्डियों के दल ने हमला किया      |      बुमराह एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी      |      अमिताभ बच्चन बांट रहे हैं फूड पैकेट      |      ग्रामीणों और केन्द्रीय टिड्डी नियंत्रण दल के अधिकारियों से सतत् सम्पर्क करें      |      नई दृष्टि और नई दिशा के साथ हो गौ-संरक्षण: श्री टंडन      |       वेस्टइंडीज की टेस्ट टीम ने ट्रेनिंग की शुरूआत कर दी       |      अक्षय कुमार के लिए लॉकडाउन में कुछ नहीं बदला      |      ब्रेट ली ने विराट कोहली और स्टीव स्मिथ में से चुना एक को      |      भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को मंत्रालय में कक्ष आवंटित      |      आइसीसी चुनाव में लगा शशांक मनोहर को लगा झटका      |       एक्ट्रेस ने किया बड़ा फ़ैसला, फ़िल्मों में नहीं करेंगी ऐसे दृश्य      |      लघु उद्यमियों के अनुरोध पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से करेंगे चर्चा : मंत्री डॉ. मिश्रा      |      किसानों को मुआवजा राशि देंगे : मंत्री श्री पटेल      |      उच्च शिक्षा की सभी कक्षाओं एवं पाठ्यक्रमों की परीक्षाएँ होंगी      |      गेंद पर नहीं करना है लार का इस्तेमाल, कोरोना के बाद सबकुछ हो जाएगा नॉर्मल: कुंबले      |      अभिनेत्री कृति सैनन ने बीटाउन में पूरे किए 6 साल      |      लॉक‘डाउन’ में गेहूं का उपार्जन हुआ सबसे ‘टॉप’      |      गृह मंत्री को अपने बीच पाकर प्रसन्न हुए पुलिसकर्मी      |      अन्य राज्य से हवाई मार्ग से आने वाले यात्रियों के लिये दिशा-निर्देश जारी      |      शार्दुल ठाकुर ने शुरु किया नेट सत्र      |      माधुरी दीक्षित का लॉकडाउन में एक अनोखा अंदाज सामने आया       |      

आनंद की बात

दुनिया में अब तक 211597 लोगों की जान ले चुका है। अभी तक जितने शोध सामने आए हैं उनमें ये बात सामने आ चुकी है कि कुछ मरीजों में इस वायरस के शुरुआती लक्षण दिखाई नह
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
चीनी कंपनी iQOO भारतीय बाजार में 5G स्मार्टफोन के साथ उतर रही है। देश में 5G फोन के साथ कदम रखने वाली ये पहली कंपनी भी है। ...
आगे पढ़ें
कोरोनो वायरस महामारी ने दुनिया के लगभग सभी हिस्सों में चिंता और दहशत पैदा कर दी है, लेकिन बुज़ुर्गों, मधुमेह और हृदय की समस्याओं, धूम्रपान करने वाले लोगों और गर्भवती महिलाओं को COVID-19 के लिए उच्च जोखिम वाली श्रेणी में रखा गया है।...
आगे पढ़ें
चिकित्सकीय शोध कार्यों में प्राचीन भारतीय चिकित्सा पद्धति से सामंजस्य बनाना जरूरीBookmark and Share

 राज्यपाल श्री लालजी टंडन ने आज भोपाल के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में नेशनल एकेडमी ऑफ मेडिकल साइंस इण्डिया के 59वें दीक्षांत समारोह में कहा कि भारत की प्राचीन चिकित्सा पद्धति काफी समृद्ध रही है। इसके आधार पर ही अनेक देशों में आधुनिक चिकित्सा पद्धति को नया रूप दिया गया है। उन्होंने चिकित्सकों से कहा कि चिकित्सकीय शोध कार्यों में प्राचीन भारतीय चिकित्सा पद्धति से सामंजस्य बनाते हुए आगे बढ़ें। राज्यपाल ने इस मौके पर डॉ. पी.के. दवे को वर्ष 2017 और डॉ. प्रेमा रामचन्द्रन को वर्ष 2018 के लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया।

राज्यपाल श्री टंडन ने कहा कि बदलते दौर में खान-पान की वस्तुओं में मिलावट के कारण लोगों को नई-नई घातक बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि एंटीबॉयोटिक दवाओं का प्रभाव भी लगातार कम होता जा रहा है, यह चिंता का विषय है। राज्यपाल ने चिकित्सा पद्धति में सुधार के साथ-साथ इंसान की जीवन-शैली में भी सुधार लाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि ऐसा करके हम अपने देश को पूर्ण स्वस्थ राष्ट्र बना सकते हैं।

राज्यपाल ने चिकित्सा के क्षेत्र में शोधकर्ता डॉक्टर्स को बधाई देते हुए अपेक्षा की कि नये शोध कार्यों से मानव सेवा को गति मिलेगी। राज्यपाल ने डॉक्टर्स से अपने प्रोफेशन को मिशन के रूप में जारी रखने का आग्रह किया। श्री लालजी टंडन ने इस मौके पर दीक्षांत स्मारिका का विमोचन किया।

एम्स के निदेशक डॉ. सरमन सिंह ने बताया कि भोपाल एम्स अस्पताल की स्थापना वर्ष 2012 में की गई। तब से यह संस्थान लगातार आम आदमी की सेवा में तत्पर है। उन्होंने बताया कि एम्स अस्पताल में 960 बेड हैं और 155 फेकल्टी काम कर रही हैं। यहाँ प्रतिदिन करीब डेढ़ हजार मरीजों को ओपीडी की सुविधा दी जा रही है। नेशनल एकेडमी ऑफ मेडिकल साइंस की अध्यक्ष प्रो. सरोज चूरामणि गोपाल ने बताया कि देशभर के चिकित्सकों को एकेडमी के माध्यम से शोध की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description