Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


सुनील गावस्कर का अनुष्का शर्मा को जवाब- गलत टिप्पणी या महिला विरोधी बात नहीं की      |      3000 एपिसोड पूरे होने की खुशी में पूरी टीम ने मनाई पार्टी      |      समाज के विघटनकारी तत्‍वों को चिन्हित कर कठोर कार्यवाही करें- गृह मंत्री डॉ. मिश्रा      |      राज्य सरकार हर कदम पर विद्यार्थियों के साथ : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      जैरा मध्यम सिंचाई परियोजना का कार्य शीघ्र शुरू होगा : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |       मुंबई पहुंचीं दीपिका पादुकोण      |      केएल राहुल ने धमाकेदार शतक से सहवाग को छोड़ा पीछे      |      बैरसिया को आद्योगिक क्षेत्र बनाने पर विचार - मंत्री श्री सखलेचा      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने डबरा क्षेत्र को दी कई बड़ी सौगातें      |      3 वर्ष में कोई भी घर कच्चा नहीं रहेगा      |      मुंबई इंडियंस ने कोलकाता को दिया 196 रन का टारगेट      |      कोरोना संक्रमित हुईं श्वेता तिवारी      |      स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने गौशालाओं का किया भूमिपूजन      |      शासकीय विभागों में रिक्त पद भरने के लिए तत्काल प्रक्रिया प्रारंभ करें- मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      किसानों के हित में फसल बीमा योजना नए स्वरूप में लाई जाएगी : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      राजस्थान रॉयल्स ने बनाया IPL 2020 का सबसे बड़ा स्कोर      |      ड्रग्स से नाम जोड़े जाने पर भड़कीं दीया मिर्ज़ा      |      पात्र किसानों को बीमा राशि दिलवानें के पूरे प्रयास करेंगे- राज्यमंत्री श्री परमार      |      कृषि बिल किसान कल्याण की दिशा में महत्वपूर्ण कदम      |      छोटे किसानों के लिए वरदान साबित होगी मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना      |      हरिवंश भी अब बिहार में चुनावी मुद्दा      |      स्वीमिंग पूल में दिखीं अनुष्का शर्मा      |      देवदत्त पडिक्कल का 36 गेंदों में 8 चौकों की मदद से अर्धशतक       |      अब अनुसूचित जनजाति के व्यक्ति मुक्त होंगे अवैध ऋणों से      |      प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देने अनुकूल वातावरण बनाया जाए: मंत्री श्री राजवर्धन सिंह      |      मलाइका अरोड़ा ने कोरोना को मात दी      |      मार्कस स्टॉयनिस ने लगाया इस सीजन का सबसे तेज अर्धशतक      |      बाबई पोषण आहार संयंत्र का संचालन महिलाओ का स्व सहायता समूह करेगा      |      नारी के सम्मान में ही संस्कृति का उत्थान है-मंत्री डॉ. मिश्रा      |      सशक्त महिलायें बनाएंगी सशक्त मध्यप्रदेश"      |      

आनंद की बात

दुनिया में अब तक 211597 लोगों की जान ले चुका है। अभी तक जितने शोध सामने आए हैं उनमें ये बात सामने आ चुकी है कि कुछ मरीजों में इस वायरस के शुरुआती लक्षण दिखाई नह
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य-दिव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन तो बुधवार को होना है लेकिन इससे पहले मंगलवार को ही नए मॉडल की तस्वीर सामने आ गई है।... ...
आगे पढ़ें
भारतीय धर्म और संस्कृति में भगवान गणेशजी सर्वप्रथम पूजनीय और प्रार्थनीय हैं। ...
आगे पढ़ें
सहिष्णुता की संस्कृति है भारत की पहचान - मुख्यमंत्री श्री कमल नाथBookmark and Share

 मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि देश में मध्यप्रदेश ही ऐसा प्रदेश है, जो विविधताओं से सम्पन्न है और पूरे विश्व में भारत ही ऐसा देश है, जो विविधताओं से पूर्ण है। इस विविधता को सकारात्मक ऊर्जा में बदलना होगा। उन्होंने कहा कि विविधता में भारत की बराबरी करने वाला देश सिर्फ सोवियत संघ था। आज वह अस्तित्व में नहीं है क्योंकि उसमें भारत जैसी सोच-समझ और सहिष्णुता की संस्कृति नहीं थी। यही भारत की पहचान है। मुख्यमंत्री आरसीवीपी नरोन्हा प्रशासन अकादमी में आईएएस सर्विस मीट 2020 के शुभारंभ सत्र को संबोधित कर रहे थे।

न्याय की कोई सीमा नहीं

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि जो आईएएस अधिकारी अपनी सेवा यात्रा के मध्य में हैं और जो सेवा पूरी करने वाले हैं, वे चिंतन करें कि मध्यप्रदेश को वे कहाँ छोड़कर जाना चाहते हैं। जो अधिकारी अपनी सेवा यात्रा की शुरूआत कर रहे हैं, वे सोचें कि मध्यप्रदेश को कहाँ देखना चाहते हैं। श्री कमल नाथ ने प्रशासनिक अधिकारियों को न्याय देने वाला बताते हुए कहा कि संविधान में उल्लेखित स्वतंत्रता और समानता जैसे मूल्यों की सीमाएँ हो सकती हैं लेकिन न्याय की कोई सीमा नहीं है। यह हर समय और परिस्थिति में दिया जा सकता है। दृष्टिकोण में परिवर्तन लाने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों के पास जो क्षमता और कौशल है, वह सामान्यत: राजनैतिक नेतृत्व के पास नहीं रहता। राजनैतिक नेतृत्व बदलते ही प्रशासनिक तंत्र का भी नया जन्म होता है लेकिन ज्ञान, कला, कौशल नहीं बदलते।

न्यू आइडिया आफ चेंज  के लिए तीन पुरस्कार

मुख्यमंत्री ने नए परिवर्तनकारी विचारों (न्यू आइडिया आफ चेंज) के लिए तीन पुरस्कार देने की बात कही। उन्होंने कहा कि इसके लिए पूर्व मुख्य सचिवों की एक ज्यूरी बनाई जाएगी, जो सर्वोत्कृष्ट आईडिया चुनेगी।

बदलनी होगी प्रदेश की वर्तमान प्रोफाईल

मुख्यमंत्री ने कहा कि हर राज्य की अपना प्रोफाईल होती है। सबको मिलकर मध्यप्रदेश का प्रोफाईल बनाना होगा। वर्तमान प्रोफाईल को बदलना होगा। मध्यप्रदेश की नई पहचान बनानी होगी। इसके लिए जरूरी है कि प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा आर्थिक गतिविधियाँ उत्पन्न हों। उन्होंने कहा कि प्रौद्योगिकी हर पल बदल रही है। पूरा भारत बदल रहा है। ज्ञान और सूचना के भंडार तक आज जो पहुँच बढ़ी है, वह पहले नहीं थी। उन्होंने कहा कि विश्व में सबसे ज्यादा महत्वाकांक्षी जनसंख्या भारत में है। ये जनसंख्या युवाओं की है। बदलते समय में महत्वाकांक्षाएँ भी बदल रही हैं। अब यह देखना है कि इन्हें कैसे अपनाएं।


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description