Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


कोरोना वायरस दुनिया भर में अर्थव्‍यवस्‍था को भी बड़ा नुकसान पहुंचा रहा है      |       40 दिन की हुई बेटी तो राज कुंद्रा ने घर पर बनाया केक      |      रेलवे के अस्पतालों में होगा सभी सरकारी कर्मियों का इलाज      |      कोरोना संकट से निपटने के लिए पैरामिलिट्री फोर्स आई आगे      |      शाह ने कहा- मोदी सरकार प्रवासी मजदूरों की सहायता के लिए वचनबद्ध      |      ब्रावो ने गाना गाकर लोगों से की अपील, कहा- 'कोरोना से हम हार नहीं मानेंगे'      |      अक्षय कुमार ने पीएम केयर्स फंड में 25 करोड़ रुपये की मदद       |      मुख्यमंत्री श्री चौहान लॉकडाउन में कालोनियों में पहुँचे, लिया नागरिक सुविधाओं का जायजा      |      रविशंकर प्रसाद का ऐलान, पीएम रिलीफ फंड में देंगे एक महीने की सैलरी      |      कोहली ने लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग पर अमल करने की अपील की      |      राज्यपाल श्री टंडन से मिले मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      राज्यपाल ने राष्ट्रपति को वीडियो कॉन्फ्रेंस से दी कोरोना की स्थिति की जानकारी      |       लॉकडाउन नहीं मानने वाले लोगों पर भड़के हरभजन       |      सनी लियोनी ने कोरोना वायरस के खिलाफ छेड़ी 'जंग      |      कोरोना से निपटने केन्द्र सरकार द्वारा बड़े राहत पैकेज का ऐलान      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान को सहायता कोष के लिये वर्धमान टेक्सटाइल्स कम्पनी ने भेंट किये एक करोड़      |      कोरोना के मरीजों के उपचार के लिये प्रत्येक संभाग में एक अस्पताल चिन्हांकित      |      रोजर फेडरर ने दस लाख डॉलर दान दिए      |      अमिताभ बच्चन ने लॉकडाउन पर कुछ इस अंदाज में बढ़ाया लोगों का हौसला      |      कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में मदद के लिए सौरव गांगुली, 50 लाख रुपये दान दिए      |      पीएम मोदी ने महाभारत के युद्ध से की COVID-19 से मुकाबले की तुलना      |      केजरीवाल बोले - पिछले 24 घंटे में दिल्ली में COVID-19 के पांच नए केस आए      |      भारतीय खिलाड़ियों ने गेम्स 1 साल टलने पर कहा- जिंदगी पहले      |      भारतीय खिलाड़ियों ने गेम्स 1 साल टलने पर कहा- जिंदगी पहले      |       कोरोनावायरस के कारण घर में बोरियत से बचने के लिए नेटफ्लिक्स पार्टी एंजॉय कर रहीं हैं मिशेल ओबामा      |      जीवन बचाने जरूरी है प्रधानमंत्री श्री मोदी का लॉकडाउन का आव्हान : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      राशन, सब्जी, दूध की दुकानें खुली रहेंगी: 14 अप्रैल तक क्या खुला, क्या बंद, देखें पूरी लिस्ट      |      सोनाक्षी ने पहली बार अपनी शादी पर तोड़ी चुप्पी      |      अश्विन ने की अपील- हालात की गंभीरता को समझे वरना भयंकर होगी स्थिति      |      नोवल कोरोना वायरस संबंधी जिज्ञासाओं का समयबद्ध समाधान करेगी      |      

आनंद की बात

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं और 12वीं के लिए टेली काउंसलिंग 1 फरवरी से शुरू होगी।
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
चीनी कंपनी iQOO भारतीय बाजार में 5G स्मार्टफोन के साथ उतर रही है। देश में 5G फोन के साथ कदम रखने वाली ये पहली कंपनी भी है। ...
आगे पढ़ें
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, चैत्र नवरात्रि का प्रारंभ चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से होता है, जो इस बार 25 मार्च दिन बुधवार को है। ...
आगे पढ़ें
टैबू सब्जेक्ट पर संदेश देने में सफल साबित होती है 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान'Bookmark and Share

 हितेश केवल्य की लिखी और उन्हीं के निर्देशन में बनी 'शुभ मंगल ज्यादा सावधान' दो लड़कों के आपसी प्यार और उनके परिवार के बीच उठे जद्दोजहद व पीड़ा पर बनी फिल्म है। इस कथा-व्यथा को बखूबी वही समझ सकता है, जो इस रास्ते से गुजर रहा हो। 

समलैंगिकता विषय पर बनी इस फिल्म की कहानी के अनुसार, कार्तिक (आयुष्मान खुराना), अमन (जीतेंद्र कुमार) से प्यार कर बैठता है। इसी बीच अमन के माता (नीना गुप्ता) - पिता (गजराज राव) एक लड़की से उसकी शादी तय कर रहे होते हैं। लेकिन अमन समलैंगिक होने के कारण कार्तिक के साथ रहना चाहता है। अमन के गे होने की बात उनके माता-पिता को पता चलने पर घर-परिवार में हाय-तौबा मच जाती है। कार्तिक और अमन का प्यार जीत हासिल कर पाता है या उनके संबंधों पर माता-पिता का दबाव? यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी। 

यह फिल्म सीधे-सीधे समलैंगिकता पर एक संदेश देने में सफल साबित दिखाई देती है। हम इस मुद्दे को सिरे से नकार नहीं सकते। निर्माता-निर्देशक ने इस विषय पर फिल्म बनाकर बड़ी हिम्मत दिखाई है। दूसरी तरफ हमारा समाज कितना भी विकसित और खुले विचारों वाला क्यों न हो गया हो। भले ही इसे कानूनी इजाजत क्यों न मिल गई हो। वावजूद इन सबके गे होने की बात सामने आने पर आज भी घर-परिवार में हाय-तौबा मचना तय है। इस बात को कहने के लिए फिल्में बननी जरूर शुरू हो गई हैं, लेकिन इसे स्वीकारने में जमाना लग जाएगा। 

दर्शक अपने चहेते स्टार आयुष्मान खुराना और समलैंगिकता के जीवन की कशमकश को देखने के लिए जरूर सिनेमाघर जा सकते हैं। फिल्म में आज के यूथ और कॉमेडी का अच्छा तालमेल है। फिल्म में गाने कम हैं, पर ‘गबरू...’ जैसे गाने कहानी के मुताबिक अच्छे और सार्थक लगे। इसके अलावा ‘अरे प्यार कर ले...’ भी अच्छे तरीके से क्रिएट किया गया है।

 
 

 


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description