Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


फ्लॉयड की मौत पर आइसीसी ने तोड़ी चुप्पी      |      सलमान खान के फार्म हाउस में निसर्ग तूफान ने जमकर मचाई तबाही      |      विकास और पर्यावरण में संतुलन आवश्यक      |      विश्व पर्यावरण दिवस पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया पौधारोपण      |      राजभवन जैव विविधता और जैविक खेती का आदर्श प्रस्तुत करे : श्री टंडन      |      लसिथ मलिंगा दुनिया में सबसे बेहतरीन यॉर्कर डालने वाले गेंदबाज-बुमराह       |      बर्थडे पर नीना गुप्ता ने फैंस को दीं ढेर सारा फ्लाइंग किस      |      कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ, 2 गज की दूरी रखकर संक्रमण से करें सुरक्षा      |      प्रदेश के विकास को मिलेगी गति      |      ट्रैक्टर चलाते कुछ इस तरह से आए नजर धौनी       |      नोरा फतेही ने सरकारी अस्पतालों के लिए डोनेट कीं पीपीई किट्स      |      कभी भी हो सकता है माल्या का प्रत्यर्पण      |      आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिये यथासंभव लोकल का प्रयोग करें      |      महाराष्ट्र में धीरे-धीरे कमजोर हो रहा निसर्ग      |      सोनाक्षी सिन्हा का 33वां बर्थडे आज      |      भारतीय क्रिकेटर्स के मैच फिट होने के लिए बनाया गया सॉलिड प्लान      |      भयानक तूफान का सामना करेगा मुंबई      |      भयानक तूफान का सामना करेगा मुंबई      |      भयानक तूफान का सामना करेगा मुंबई      |      बिजली सेवा और समाधान का नाम है UPAY एप      |      मुख्यमंत्री द्वारा घोषित रियायतों से बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगी करीब 1150 करोड़ की राहत      |      कोरोना संकट के कारण अद्वैतवाद का पुनर्जागरण हो रहा है: राज्यपाल      |      सौरव गांगुली ने IPL के आयोजन पर चल रही खबरों पर लगाया विराम      |      सोनू सूद ने 1000 से अधिक यूपी-बिहार के प्रवासी मजूदरों को भेजा घर      |      महाराष्ट्र और गुजरात में आने वाला है चक्रवात निसर्ग      |      कंटेनमेंट मुक्त हुआ राजभवन      |      एलोपैथी न हौम्योपैथी सबसे कारगर सिम्पैथी : मंत्री डॉ. मिश्रा      |      हार्दिक पांड्या शादी से पहले बनने जा रहे हैं पिता      |      जी-7 की जगह जी-11      |      दुर्लभ संकटापन्न प्रजातियों के एक करोड़ पौधे तैयार      |      

आनंद की बात

दुनिया में अब तक 211597 लोगों की जान ले चुका है। अभी तक जितने शोध सामने आए हैं उनमें ये बात सामने आ चुकी है कि कुछ मरीजों में इस वायरस के शुरुआती लक्षण दिखाई नह
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
चीनी कंपनी iQOO भारतीय बाजार में 5G स्मार्टफोन के साथ उतर रही है। देश में 5G फोन के साथ कदम रखने वाली ये पहली कंपनी भी है। ...
आगे पढ़ें
कोरोनो वायरस महामारी ने दुनिया के लगभग सभी हिस्सों में चिंता और दहशत पैदा कर दी है, लेकिन बुज़ुर्गों, मधुमेह और हृदय की समस्याओं, धूम्रपान करने वाले लोगों और गर्भवती महिलाओं को COVID-19 के लिए उच्च जोखिम वाली श्रेणी में रखा गया है।...
आगे पढ़ें
2 करोड़ भोजन पैकेट एवं 3.64 लाख क्विंटल खाद्यान्न वितरित -मंत्री श्री राजपूतBookmark and Share

 प्रदेश में माईग्रेंट/ स्ट्रेंडेड माईग्रेंट लेबर को एसडीआरएफ मद से अब तक तीन लाख 64 हजार 700 क्विंटल खाद्यान्न का वितरण किया जा चुका है। खाद्य मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने यह जानकारी केन्द्रीय खाद्य मंत्री श्री रामविलास पासवान को दी। श्री पासवान वीडियो काफ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य आपदा राहत कोष में राज्यों को आवंटित खाद्यान्न वितरण की राज्यों के खाद्य मंत्रियों के साथ समीक्षा कर रहे थे।

खाद्य मंत्री श्री राजपूत ने बताया कि प्रदेश में अब तक एक लाख 88 हजार लोगों को 2.02 करोड़ भोजन पैकेट एवं 83 लाख खाद्यान्न पैकेट उपलब्ध करावाए गये हैं। राज्य शासन द्वारा जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराने के लिए टोल फ्री भोजन हेल्प लाईन 01 अप्रैल से प्रदेश में निरंतर कार्य कर रही है। वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में प्रमुख सचिव खाद्य श्री शिव शेखर शुक्ला ने खाद्यान्न आवंटन एवं वितरण व्यवस्था की जानकारी दी।

आत्मनिर्भर भारत योजना के लिए चिन्हांकन

मंत्री श्री राजपूत ने केन्द्र सरकार की 'आत्म-निर्भर भारत योजना' के बारे में बताया कि इस योजना के अंतर्गत माईग्रेंट/स्ट्रेंडेड माईग्रेंट लेबर का चयन मोबाईल एप से 31 मई तक पूरा कर लिया जाएगा। ग्राम पंचायत एवं नगरीय निकाय के माध्यम से हितग्राही का नाम, समग्र आईडी, आधार नंबर आदि की जानकारी भी संकलित करायी जा रही है। उचित मूल्य की दुकानों पर पींओएस मशीन पर प्रदर्शित करवाकर खाद्यान्न का आवंटन एवं वितरण कराया जाएगा।

प्रदेश के 10 लाख माईग्रेंट लेबर जो अन्य राज्यों में कार्य करते थे, जिनमें से 9.5 लाख लेबर वापिस मध्यप्रदेश आ चुके है। प्रदेश सरकार ने प्राथमिकता के साथ श्रमिकों को वापस लाने के लिये व्यापक सुविधाये उपलब्ध करवाई है। इसी तरह अन्य राज्यों के 40 हजार लेबर में से लगभग 20 हजार लेबर अभी भी मध्यप्रदेश में निवासरत हैं। उन्होंने बताया कि चिन्हांकन की कार्रवाई पूर्ण होते ही जून माह में खाद्यान्न वितरण प्रारंभ करा दिया जाएगा।

वन नेशन - वन राशन कार्ड योजना

खाद्य मंत्री श्री राजपूत ने केन्द्र सरकार की वन नेशन - वन राशन कार्ड योजना की प्रशंसा करते हुए बताया कि इस महत्वावकांक्षी योजना से राशनकार्ड धारी देश में कहीं भी अपने राशन कार्ड से राशन ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि यदि पहले से यह योजना क्रियान्व्रित रहती तो किसी भी आपदा में खाद्यान्न की परेशानी नहीं होती।

श्री राजपूत ने बताया कि प्रदेश में अंतरराज्यीय पोर्टेबिलिटी की व्यवस्था के तहत 3 लाख 39 हजार 951 हितग्राहियों द्वारा राशन प्राप्त किया गया। अभी तक 70 प्रतिशत हितग्राहियों के डाटाबेस में आधार सीडिंग की जा चुकी है। इस वर्ष 31 दिसंबर तक सीडिंग का कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा।


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description