Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


आरसीबी के इस ओपनर ने ठोका लगातार तीसरा शतक      |      सतना जिले के अमरपाटन में सिविल अस्पताल भवन का होगा विस्तार      |      नगरीय विकास मंत्री श्री भूपेंद्र सिंह द्वारा वीरांगना झलकारी बाई ट्रैफिक पार्क का लोकार्पण      |      समाज के अंतिम पंक्ति के व्यक्ति का विकास सबसे पहले हो : डॉ. मिश्र      |      टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में 22 बार दो दिन में खत्म हुए हैं मुकाबले      |      रकुलप्रीत सिंह ने 'पॉरी' मीम को दिया योगा ट्विस्ट      |      अमर शहीद वीर सावरकर की पुण्यतिथि पर मुख्यमंत्री चौहान ने श्रद्धांजलि अर्पित की      |      मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने रोपा नीम का पौधा      |      मध्यप्रदेश की प्रगति का नया इतिहास बनाएंगे : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      इशांत शर्मा पूरा करेंगे टेस्ट मैचों का शतक      |      करीना कपूर ने दिया बेटे को जन्म      |      सरस मेले का आयोजन भोपाल के साथ प्रदेश के अन्य शहरों में भी हो      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अजमेर उर्स के लिए चादर भेजी      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नसरुल्लागंज महाविद्यालय परिसर में किया पौधारोपण      |      ग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए टीम इंडिया का एलान      |      शिल्पा शेट्टी ने शहनाज गिल का वायरल मीम 'साड्डा कुत्ता किया रीक्रिएट      |      गृह मंत्री डॉ. मिश्रा ने किया अन्तर्राज्यीय दंगल का शुभारंभ      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया पौधारोपण      |      नीति आयोग के छह सूत्री एजेंडा को जमीन पर उतारेगा मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      डे-नाइट टेस्ट के लिए मोटेरा स्टेडियम में लगाई गई एलईडी लाइट      |      सपना चौधरी की तस्वीरें हुईं वायरल      |      सीधी और निवाड़ी दुर्घटना में मृत व्यक्तियों को मंत्रि-परिषद ने दी श्रद्धांजलि      |      प्रदेश का अति सघन वन क्षेत्र 2437 वर्ग किलोमीटर बढ़ने पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की सराहना      |      प्रदेश में वन क्षेत्र का बढ़ना पूरी दुनिया के लिए शुभ समाचार : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      पाकिस्तान के विकेटकीपर ने जमाया तूफानी शतक      |      आलिया भट्ट हाथ में मेहंदी लगा दुल्हन के लुक में आई नजर      |      जल संसाधन मंत्री श्री सिलावट ने पं. दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर माल्यार्पण कि      |      दिव्यांगजनों को नशे से बचाने चलाया जाएगा जन-जागरूकता अभियान: आयुक्त नि:शक्तजन      |      जलाभिषेकम् स्थानीय ही नहीं बल्कि राष्ट्रीय महत्व का कार्यक्रम- केन्द्रीय मंत्री श्री राजनाथ सिंह      |      भारत-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज का नाम 'तेंदुलकर-कुक' सीरीज रखा जाए      |      

आनंद की बात

दुनिया में अब तक 211597 लोगों की जान ले चुका है। अभी तक जितने शोध सामने आए हैं उनमें ये बात सामने आ चुकी है कि कुछ मरीजों में इस वायरस के शुरुआती लक्षण दिखाई नह
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य-दिव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन तो बुधवार को होना है लेकिन इससे पहले मंगलवार को ही नए मॉडल की तस्वीर सामने आ गई है।... ...
आगे पढ़ें
भारतीय धर्म और संस्कृति में भगवान गणेशजी सर्वप्रथम पूजनीय और प्रार्थनीय हैं। ...
आगे पढ़ें
बनी (हरबाखेड़ी) मध्यम सिंचाई परियोजना के लिये 93.75 करोड़ रूपये की प्रशासकीय स्वीकृतिBookmark and Share

 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आज मंत्रि-परिषद की बैठक में बनी (हरबाखेड़ी) मध्यम सिंचाई परियोजना के लिए 93 करोड़ 75 लाख रूपये की प्रशासकीय स्वीकृति दी। परियोजना से 3, 050 हेक्टेयर में सिंचाई हो सकेगी।

मंत्रि-परिषद ने आदिम-जाति कल्याण विभाग का नाम बदलकर जनजातीय कार्य विभाग करने का भी निर्णय लिया।

मंत्रि-परिषद ने राजस्व पुस्तक परिपत्र खण्ड छ: क्रमांक 4 परिशिष्ट-1 में वन्य-प्राणियों द्वारा भी मकान पूर्ण रूप से या आंशिक रूप से क्षत्रिग्रस्त होने पर आर्थिक अनुदान सहायता दी जाने  का प्रावधान जोड़ा जाने की मंजूरी दी। वर्तमान में इस परिशिष्ट में किसी भी प्रकार के प्राकृतिक प्रकोप या आग लगने के कारण मकान पूर्ण/आंशिक रूप से नष्ट होने पर अनुदान सहायता का प्रावधान था।

इसी प्रकार राजस्व पुस्तक परिपत्र खण्ड छ: क्रमांक 4 परिशिष्ट-1 में वर्तमान में प्राकृतिक प्रकोप या अग्नि दुर्घटना के कारण पीड़ित परिवार के कपड़े, खाद्यान्न एवं बर्तनों की हानि के लिए प्रति परिवार के मान से 5 हजार रूपये का आर्थिक अनुदान, 50 किलोग्राम खाद्यान्न (गेहूँ/चावल) एवं 5 लीटर केरोसीन तात्कालिक सहायता के रूप में देने का प्रावधान है। मंत्रि-परिषद ने इसके साथ वन्य-प्राणियों द्वारा हुई क्षति को भी जोड़ने की मंजूरी दी।

आपदाओं के दृष्टिगत, पीड़ितों को तत्काल राहत सहायता उपलब्ध कराने के लिये एस.डी.आर.एफ. (स्टेट डिजास्टर रिस्पॉन्स फण्ड) से राशि व्यय के संबंध में भारत शासन द्वारा समय-समय पर जारी निर्देशों के अनुक्रम में ऐसे मद, जिनके विषय में राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 में कोई स्पष्ट प्रावधान नहीं है, को भी भारत शासन के एस.डी.आर.एफ. के संबंध में जारी निर्देशों के आधार पर शामिल करने का प्रावधान किया गया है।

राजस्व पुस्तक परिपत्र खण्ड छ: क्रमांक 4 में वर्तमान प्रावधान देय अनुदान सहायता से कम मूल्य की फसल क्षति हुई हो तो अनुदान सहायता उस मूल्य के बराबर देय होगी, किंतु एक कृषक को सभी फसलों के मामलों में राशि देय 5 हजार रूपये से कम नहीं होगीं। इस के स्थान पर मंत्रि-परिषद ने ''उपरोक्तानुसार देय अनुदान सहायता  से कम मूल्य की फसल क्षति हुई हो तो अनुदान सहायता उस मूल्य के बराबर देय होगी। प्रत्येक खाते के लिये सभी फसलों के मामले में देय राशि  5 हजार रूपये से कम नहीं होगी। ''प्रतिस्थापित करने की मंजूरी दी।

राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के अंतर्गत वर्तमान प्रावधान के कारण देय फसल हानि की सहायता फसल के मूल्य के कई गुना अधिक है। ऐसे प्रकरण जहाँ अनुदान सहायता से कम मूल्य की फसल क्षति हुई हो, में उपरोक्तानुसार देय अनुदान सहायता से कम मूल्य की फसल क्षति हुई हो तो अनुदान सहायता उस मूल्य के बराबर देय होगी। मंत्रि-परिषद ने प्रत्येक खाते के लिये सभी फसलों के मामले में देय राशि 5 हजार रूपये से कम नहीं होगी, प्रावधानित करने की भी मंजूरी दी।


पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description