Today Visitor :
Total Visitor :


INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया      |      डोकलाम विवाद: भारत-चीन की सीमा से सटे पोस्टों पर फौज की तैनाती बढ़ी      |      IIFA में कंगना‌ पर छींटाकशी के सवाल से श्रद्धा कपूर ने यूं काटी कन्नी      |       कांगो में अगवा किया गया भारतीय नागरिक रिहा: सुषमा      |      झमाझम बारिश में भीगा पूरा भोपाल, अगले 24 घंटे ऐसा ही बना रह सकता है मौसाम      |      वुमेंस वर्ल्ड कप का पहला सेमीफाइल आज, इंग्लैंड-दक्षिण अफ्रीकी के बीच भिड़ंत      |      मैं रिश्तों को लेकर उतना अच्छा नहीं हूं : शाहरूख खान      |      राष्ट्रपति चुनाव में करीब 99% मतदान, 20 जुलाई को आएगा फैसला      |      मैं रिश्तों को लेकर उतना अच्छा नहीं हूं : शाहरूख खान      |      भारत और अमेरिका बढ़ाएंगे रक्षा सहयोग, 621.5 अरब डॉलर का बिल मंजूर      |      आज भोपाल में गरज- चमक के साथ हल्की बूंदाबांदी के आसार      |      कमाल खान फिर से ‘ओ ओह जाने जाना’ गाना लाना चाहते हैं      |      कभी नहीं सोचा था इतने विम्बलडन खिताब जीतूंगा: फेडरर      |      राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान जारी, सपा में फूट, शिवपाल ने कोविंद को दिया वोट      |      राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग जारी, सीएम समेत 208 विधायकों ने डाला वोट      |      डोकलाम पर कोई समझौता नहीं होगा, भारत सेना हटाए तभी होगी बात: चीनी मीडिया      |      अमरनाथ      |      अमरनाथ      |      श्रीदेवी के साथ दोबारा काम करना चाहते हैं अक्षय खन्ना      |      श्रीदेवी के साथ दोबारा काम करना चाहते हैं अक्षय खन्ना      |      रोजर फेडरर रिकॉर्ड आठवी बार बने विंबलडन चैंपियन      |      राष्ट्रपति चुनाव के लिए कल होगी वोटिंग      |      राष्ट्रपति चुनाव पर बोलीं सोनिया      |      हॉस्पिटल में स्वस्थ वातावरण बनाने में पेंटिंग्स की अहम भूमिका-राज्य मंत्री श्री सारंग      |      किसानों को उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिये तात्कालिक और दीर्घकालिक उपाय किये जायेंगे      |      WWC 2017: कप्तान मिताली राज के शतक से भारत ने न्यूजीलैंड को दिया 266 रनों का लक्ष्य      |      GOLD थाली में शाहरुख ने ऐसे खाई दाल-बाटी, कटौरी-ग्लास भी थे सोने के      |      यूपी विधानसभा विस्फोटक कांड: सुरक्षा में चूक का बड़ा खुलासा, 100 में से 94 कैमरे नहीं कर रहे थे काम      |      3 दिन बाद हो सकती है फिर तेज बारिश, दक्षिणी और पश्चिमी क्षेत्र अलर्ट पर      |      डोकलाम से सैनिक वापस नहीं बुलाने पर चीन ने भारत को दी स्थिति बिगड़ने की धमकी      |      

आनंद की बात

हर ग्रह का अपना रंग है और उसी से मिलते रंग वाला रत्न उससे संबंधित होता है। आइए जानते हैं कैसे पता करें कि आपने कोई गलत रत्न तो धारण नहीं कर लिया और किया है तो उ
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
देशभर में शुक्रवार आधी रात से गुड्स एंड सर्विसेज़ टैक्स यानी जीएसटी लागू हो चुका है. इसके लागू होते ही कीमतों पर इसका असर दिखना शुरू हो गया है. नई टैक्स व्यवस्था एपल का प्रोडक्ट खरीदने की ख्वाहिश रखने वालों के लिए अच्छी खबर लाई है. नतीजतन अमेरिकी टे ...
आगे पढ़ें
शादी से पहले दूल्हा-दुल्हन को बहुत तैयारियां करनी पड़ती हैं. लेकिन आज हम बात कर रहे हैं उन लड़कियों की जिनकी शादी होने वाली हैं. जी हां आज हम भावी दुल्हनों के लिए पपीते से जुड़े ऐसे घरेलु नुस्खे लेकर आएं हैं जो दुल्हनों की रंगत को निखार सकते हैं. चल...
आगे पढ़ें
मैं एक आम नागरिक के तौर पर जंगीपुर वापस आऊंगा: प्रणब मुखर्जीBookmark and Share

 जंगीपुर वो जगह है, जहां से प्रेसिडेंट प्रणब मुखर्जी ने 2004 में पहली बार लोकसभा चुनाव जीता था। शुक्रवार को वे यहां बतौर प्रेसिडेंट आखिरी बार पहुंचे, तो उनकी एक झलक पाने काे लोग बेताब हो उठे। सड़काें और खेतों में लोग मोबाइल फोन से उनकी और उनके काफिले की तस्वीरें ले रहे थे। यहां प्रेसिडेंट ने लोगों से कहा कि अब वो यहां एक आम नागरिक की तरह आएंगे। बता दें कि मुखर्जी का प्रेसिडेंट पोस्ट पर टेन्योर इसी महीने पूरा हो रहा है। केकेएम रूरल फुटबॉल टूर्नामेंट का किया इनॉगरेशन...

 

 यहां मेकेंजी फुटबॉल ग्राउंट पर केकेएम रूरल फुटबॉल टूर्नामेंट का इनॉगरेशन करते वक्त मुखर्जी ने कहा, अब वे यहां प्रेसिडेंट के तौर पर नहीं आएंगे, क्योंकि 10 दिन बाद उनका टर्म पूरा हो रहा है।
- प्रेसिडेंट ने जब कहा कि वो देश के 130 करोड़ नागरिकों में से एक होंगे और एक आम नागरिक की तरह वापस आएंगे, इस पर लोगों ने तालियां बजाईं।
- बता दें कि मुखर्जी ने अपने पिता कमाका किमकर मुखर्जी की याद में केकेएम गोल्ड कप फुटबॉल टूर्नामेंट 2010 में शुरू किया था।
- शुक्रवार को इस टूर्नामेंट में मोहन बागान और ईस्ट बंगाल की अंडर-19 टीम के बीच मुकाबला हुआ। एक्स्ट्रा टाइम तक चले इस मैच में मोहान बगान ने पेनाल्टी शूटआउट से जीत दर्ज की।
 
गर्मी के बावजूद सड़कों पर उमड़ी भीड़
- उमसभरे मौसम के बावजूद बतौर राष्ट्रपति आखिरी बार यहां आए मुखर्जी की एक झलक पाने को लोग बेताब थे।
- मुखर्जी ने भी लोगों को निराश नहीं किया और लगातार हाथ हिलाकर उनका अभिवादन करते रहे, क्योंकि इन्हीं लोगों ने उन्हें 2004, फिर 2009 में लोकसभा चुनाव जिताया था।
- मुखर्जी ने 1969 में बतौर राज्यसभा मेंबर सार्वजनिक जीवन की शुरुआत की थी। इसके बाद वो सरकार के कई अहम पदों पर रहे।
 
भावुक कर देने वाली थी यह यात्रा
- जंगीपुर में उनकी आज की यह यात्रा भावुक कर देने वाली थी। वे यहां अपने बेटे अभिजीत मुखर्जी के बनाए मकान "जंगीपुर हाउस" में लोगों से मिले।
- 2012 में प्रणब मुखर्जी के राष्ट्रपति बनने के बाद यहां से अभिजीत ने लोकसभा चुनाव जीता।
- घर की ओर जाती संकरी सड़कों से जब मुखर्जी का काफिला गुजरा तो धान के खेतों में खड़ी भीड़ में से कई लोगों ने यह पल अपने मोबाइल में कैद कर लिया।
 
'मैंने लिखी है प्रेसिडेंट की बायोग्राफी'
- मुखर्जी का सोनातिगिरी में करीब एक एकड़ में बना बहुत साधारण सा घर है। घर के हॉल में प्रणब मुखर्जी की पत्नी सुव्रा मुखर्जी की बड़ी सी तस्वीर लगी है।
- इस घर में चहल-पहल थी। लोग यहां मुखर्जी से मिलने के लिए उनका इंतजार कर रहे थे।
- मुखर्जी का इंतजार कर रहे सुशील भट्टाचार्य ने कहा, "मैंने प्रेसिडेंट की बायोग्राफी लिखी है। मेरे बड़े भाई उनके साथ पढ़े थे। मैं उन्हें 1970 के दशक से जानता हूं।"
- एक पुराना सा एलबम और मुखर्जी पर उनकी लिखी किताब दिखाते हुए भट्टाचार्य ने अफसोस जताया कि पुलिस उन्हें अंदर नहीं जाने दे रही। हालांकि, कुछ देर बाद उन्हें अंदर जाने की इजाजत दे दी गई।
- मुखर्जी के एक ओर पुराने दोस्त और चार बार कांग्रेस से विधायक रहे समर मुखर्जी भी उन लोगों में थे, जो प्रणब मुखर्जी से मिलने के लिए उनका इंतजार कर रहे थे।
- प्रणब की एक परिचित उनके लिए खीर भी लाई थी, जो उसने अभिजीत का दे दी।
 
बच्चों को बताया- मैं स्कूल से भाग जाता था
- इससे पहले दिन में मुखर्जी ने कनिधिघी में भारती फाउंडेशन की आेर की जाने वाली 10वीं सत्य भारतीय स्कूल दौड़ का इनॉगरेशन किया।
- स्कूलों में प्रेसिडेंट का इंतजार कर रहे स्टूडेंट्स भी उनसे सवाल करने से खुद को रोक नहीं पाए।
- स्टूडेंट्स ने उनसे पूछा- आप कहां पढ़ते थे?, आपको प्रेसिडेंट वाली जिदंगी पसंद है या आम जिंदगी?, क्या आपको हमारा स्कूल पसंद है? प्रेसिडेंट भी मुस्कुराते हुए उनकी सीटों तक गए। उनसे हाथ मिलाया और उनके सवालों के जवाब दिए।
- प्रेसिडेंट ने कहा, "मैं आप लोगों की तरह कभी अच्छा स्टूडेंट नहीं था। आप लोग रोज स्कूल आते हैं, मैं तो अक्सर भाग जाया करता था।"
- उन्होंने स्टूडेंट्स को सलाह दी, "खूब पढ़ो, खूब खेलो और अच्छे नंबर लाओ।"
 
लाेगों को बांटेंगे LPG कनेक्शन

 

- बता दें कि प्रेसिडेंट शनिवार को दिल्ली वापस आएंगे। इससे पहले वे नाबाग्राम में रिटायर्ड इम्प्लॉई की एक रैली को एड्रेस करेंगे और गांव वालों को एलपीजी कनेक्शन डिस्ट्रीब्यूट करेंगे।

पाठको की राय
1
आपकी राय
Name
Email
Description