Today Visitor :
Total Visitor :


ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने हार्दिक पांड्या को बताया शानदार खिलाड़ी      |      ऐश्वर्या के साथ तीसरी बार काम करने पर अनिल कपूर ने जाहिर की खुशी      |      त्तर कोरिया संकट के बीच जापान में समय से पहले होगा चुनाव      |      कंधे पर शिवलिंग ले गरबा खेलने पहुंचा ये बाहुबली, देखते ही लड़कियों ने यूं घेरा      |      MP में मानसूनी बारिश का सिलसिला थमा, अगले 24 घंटे ऐसा रहेगा मौसम      |      'न्यूटन' की सफलता के पीछे मां की आशीर्वाद : राजकुमार राव      |      ऑस्ट्रेलिया को 5 विकेट से हराकर टीम इंडिया ने 3-0 से सीरीज पर किया कब्जा      |      'मन की बात' के तीन साल पूरे      |      अच्छी शिक्षा के लिए संसाधनों का विकास जरूरी : जनसम्पर्क मंत्री डॉ. मिश्र      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा “प्रेस एन्क्लेव” के प्रवेश द्वार का लोकार्पण      |      तीसरे वनडे में बारिश की वजह से कम ओवरों का हो सकता है मैच      |      तारक मेहता का उल्टा चश्मा में अब दिखाई नहीं देंगी दयाबेन      |      UN में सुषमा स्वराज      |      वृक्षारोपण को जन-आन्दोलन का स्वरूप-दे उद्योग मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल      |      सामाजिक कार्यों को सरकार का पूर्ण सहयोग : मंत्री डॉ. मिश्र      |      UN में सुषमा स्वराज: भारत ने डॉक्टर, इंजीनियर, साइंटिस्ट पैदा किए, पाकिस्तान ने आतंकी और जेहादी      |      अभिव्यक्ति गरबाः मां दुर्गा की आराधना के साथ इस अंदाज में लोगों ने मनाया जश्न      |      टीम में कुलदीप की जगह लेना मुश्किल: हरभजन सिंह      |      ‘ऑस्कर’ में जाएगी राज कुमार राव की फिल्म ‘न्यूटन’, चारों ओर हो रही है तारीफ      |      चुनाव जीतने के लिए सरकारी तिजोरी को 'तबाह’ करती थीं पिछली सरकारें: पीएम मोदी      |      राजधानी के साथ पूरे MP में बारिश जारी, मौसम विभाग ने दी भारी बारिश की चेतावनी      |      अभिव्यक्ति गरबा में दिखेगा फ्यूजन का रंग, एंट्री के लिए जरूरी होगा आधार कार्ड      |      भारत ने दूसरे वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया पर दर्ज की जीत      |      आज से चीन में दौड़ेगी दुनिया की सबसे तेज ‘बुलेट ट्रेन’, स्पीड होगी 350 KMPH      |      सिंधु-सायना हारी      |      अब तैमूर को ध्यान में रखकर ही हर फैसला लेंगी करीना कपूर!      |      योगी आदित्यनाथ और केशव प्रसाद मौर्य ने लोकसभा से दिया इस्तीफा      |      राजस्व संबंधी अप्रासंगिक कानून समाप्त होंगे : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      अभ्यास सत्र धुलने के बाद धोनी ने निशानेबाजी में आजमाए हाथ      |      मेरा दिल अब मेरे अंदर नहीं बल्कि तैमूर में धड़कता है : करीना      |      

आनंद की बात

हर तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट ना बाजारों के साथ-साथ ऑनलाइन भी मौजूद हैं. नए-नए ब्यूटी ट्रेंड्स में आजकल पॉपुलर हो रहा है बालों का परफ्यूम यानि हेयर मिस्ट. क्या आप ज
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
स्टडी में पता चला है कि आर्टिफीशियल स्वीटनर के अधिक इस्तेमाल से टाइप 2 डायबिटीज, मोटापे और हार्ट डिजी़ज़ का रिस्क बढ़ जाता है. ...
आगे पढ़ें
कहा जाता है कि ज्यादा चाय नहीं पीनी चाहिए क्योंकि वो बहुत एसिडिटी करती है. मगर कुछ चाय ऐसी होती है जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही अच्छी होती है और उनमें से एक चाय है जैसमीन टी. आज डॉ. शि‍खा शर्मा जैसमीन टी के बारे में ही बताएंगी. ...
आगे पढ़ें
मोटापे और डायबिटीज से बचना है तो ना करें स्वीटनर्स का इस्तेमाल!Bookmark and Share

स्टडी में पता चला है कि आर्टिफीशियल स्वीटनर के अधिक इस्तेमाल से टाइप 2 डायबिटीज, मोटापे और हार्ट डिजी़ज़ का रिस्क बढ़ जाता है.
क्या कहती है रिसर्च-

कनाडाई मेडिकल एसोसिएशन जर्नल द्वारा की गई रिसर्च में पता चला है कि आर्टिफीशियल स्वीटनर को वजन कम करने और डायबिटीज को कंट्रोल के लिए डिजाइन किया गया था. लेकिन इसका शरीर पर बहुत बुरा असर पड़ रहा है. इससे पेट में बैक्टीरिया भी बढ़ रहे हैं.

क्या कहते हैं शोधकर्ता-

हालांकि दूसरी और मैनिटोबा यूनिवर्सिटी के लेखकों का कहना है कि इस डेटा पर ज्यादा स्टडी नहीं की गई है और इसको पूरी तरह से साबित करने के लिए और ज्यादा स्टडी की जरूरत है. इसको अभी पूरी तरह से सही नहीं कहा जा सकता है.

शरीर पर इसका असर-

आर्टिफीशियल स्वीटनर का शरीर पर और क्या असर हो सकता है, इसको और बेहतर तरीके से समझने के लिए शोधकर्ताओं ने व्यस्कों और किशोरों के बीच बीएमआई, वज़न और मोटापे पर स्टडी की.

कुछ स्टडी में आर्टिफीशियल स्वीटनर से वजन घटाने के बारे में कोई खास प्रभाव नहीं देखा गया था. इतना ही नहीं, शोधकर्ता ये पुख्ता तौर पर नहीं कह सकते कि मोटापा बढ़ने, हाइपरटेंशन, हार्ट अटैक और टाइप 2 डायबिटीज का कारण आर्टिफीशियल स्वीटनर ही हैं.

शोधकर्ताओं का कहना है कि वेट मैनेजमेंट के लिए नॉन न्यूट्रि‍टीव स्वीटनर स्पष्ट रूप से सपोर्ट नहीं करते हैं. इतना ही नहीं, नॉन न्यूट्रि‍टीव स्वीटनर का नियमित सेवन से करने बीएमआई लेवल बढ़ जाता है और कार्डियोमेटाबॉलिक का खतरा भी बढ़ जाता है.

क्या कहते हैं शोधकर्ता-

शोधकर्ता वेट मैनेजमेंट के लिए आर्टिफीशियल स्वीटनर के लाभों पर सवाल उठाते हैं. प्रमुख लेखक डॉ. मेघन आजाद का इस बारे में कहना है कि जब तक आर्टिफीशियल स्वीटनर का हेल्थ पर इफेक्ट पूरी तरह खत्म नहीं हो जाता तब तक सावधानी बरकरार रखी जानी चाहिए.