Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


फ्लॉयड की मौत पर आइसीसी ने तोड़ी चुप्पी      |      सलमान खान के फार्म हाउस में निसर्ग तूफान ने जमकर मचाई तबाही      |      विकास और पर्यावरण में संतुलन आवश्यक      |      विश्व पर्यावरण दिवस पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया पौधारोपण      |      राजभवन जैव विविधता और जैविक खेती का आदर्श प्रस्तुत करे : श्री टंडन      |      लसिथ मलिंगा दुनिया में सबसे बेहतरीन यॉर्कर डालने वाले गेंदबाज-बुमराह       |      बर्थडे पर नीना गुप्ता ने फैंस को दीं ढेर सारा फ्लाइंग किस      |      कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ, 2 गज की दूरी रखकर संक्रमण से करें सुरक्षा      |      प्रदेश के विकास को मिलेगी गति      |      ट्रैक्टर चलाते कुछ इस तरह से आए नजर धौनी       |      नोरा फतेही ने सरकारी अस्पतालों के लिए डोनेट कीं पीपीई किट्स      |      कभी भी हो सकता है माल्या का प्रत्यर्पण      |      आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिये यथासंभव लोकल का प्रयोग करें      |      महाराष्ट्र में धीरे-धीरे कमजोर हो रहा निसर्ग      |      सोनाक्षी सिन्हा का 33वां बर्थडे आज      |      भारतीय क्रिकेटर्स के मैच फिट होने के लिए बनाया गया सॉलिड प्लान      |      भयानक तूफान का सामना करेगा मुंबई      |      भयानक तूफान का सामना करेगा मुंबई      |      भयानक तूफान का सामना करेगा मुंबई      |      बिजली सेवा और समाधान का नाम है UPAY एप      |      मुख्यमंत्री द्वारा घोषित रियायतों से बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगी करीब 1150 करोड़ की राहत      |      कोरोना संकट के कारण अद्वैतवाद का पुनर्जागरण हो रहा है: राज्यपाल      |      सौरव गांगुली ने IPL के आयोजन पर चल रही खबरों पर लगाया विराम      |      सोनू सूद ने 1000 से अधिक यूपी-बिहार के प्रवासी मजूदरों को भेजा घर      |      महाराष्ट्र और गुजरात में आने वाला है चक्रवात निसर्ग      |      कंटेनमेंट मुक्त हुआ राजभवन      |      एलोपैथी न हौम्योपैथी सबसे कारगर सिम्पैथी : मंत्री डॉ. मिश्रा      |      हार्दिक पांड्या शादी से पहले बनने जा रहे हैं पिता      |      जी-7 की जगह जी-11      |      दुर्लभ संकटापन्न प्रजातियों के एक करोड़ पौधे तैयार      |      

आनंद की बात

दुनिया में अब तक 211597 लोगों की जान ले चुका है। अभी तक जितने शोध सामने आए हैं उनमें ये बात सामने आ चुकी है कि कुछ मरीजों में इस वायरस के शुरुआती लक्षण दिखाई नह
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
चीनी कंपनी iQOO भारतीय बाजार में 5G स्मार्टफोन के साथ उतर रही है। देश में 5G फोन के साथ कदम रखने वाली ये पहली कंपनी भी है। ...
आगे पढ़ें
कोरोनो वायरस महामारी ने दुनिया के लगभग सभी हिस्सों में चिंता और दहशत पैदा कर दी है, लेकिन बुज़ुर्गों, मधुमेह और हृदय की समस्याओं, धूम्रपान करने वाले लोगों और गर्भवती महिलाओं को COVID-19 के लिए उच्च जोखिम वाली श्रेणी में रखा गया है।...
आगे पढ़ें
मध्यप्रदेश से दिशा निकलेगी तो पूरे विश्व को लाभ होगाBookmark and Share

 योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा है कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश में आयुर्वेदिक दवाओं के माध्यम से लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर कोरोना संक्रमण रोकने की दिशा में सराहनीय कार्य हुआ है। कोरोना मरीजों पर भी प्रदेश में आयुर्वेद दवा का उपयोग कारगर रहा है। कोरोना को नियंत्रित करने की मध्यप्रदेश से जो दिशा निकलेगी उससे पूरे विश्व को लाभ होगा। प्राणायाम एवं आयुर्वेदिक औषधियां कोरोना को रोकने एवं उसके इलाज में अत्यंत उपयोगी हैं।

योगगुरू बाबा रामदेव आज मुख्यमंत्री श्री चौहान एवं मध्यप्रदेश के समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों से वी.सी. के माध्यम से चर्चा कर रहे थे। वी.सी. में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान, सचिव आयुष श्री एम.के. अग्रवाल आदि उपस्थित थे।

दो करोड़ लोगों को आयुर्वेदिक काढ़ा वितरित

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के इलाज एवं संक्रमण रोकने की श्रेष्ठतम व्यवस्था की गई है। साथ ही लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का प्रयोग किया जा रहा है। अभी तक लगभग 2 करोड़ लोगों को आयुष विभाग के सहयोग से त्रिकटु काढ़े के पैकेट्स वितरित किए गए हैं। कोरोना कार्य में लगे स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी आदि को भी काढ़ा पिलाया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बाबा रामदेव को प्रदेश के चिकित्सा अधिकारियों को आयुर्वेदिक दवाओं के इस्तेमाल एवं प्राणायाम संबंधी मार्गदर्शन देने के लिए हार्दिक धन्यवाद दिया और आशा व्यक्त की कि आयुर्वेदिक दवाओं एवं प्राणायाम का उपयोग कोरोना के विरूद्ध जंग जीतने में अत्यधिक सहायक होंगे।

जिसकी इम्युनिटी अच्छी उसका कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ सकता

बाबा रामदेव ने कहा कि जिस व्यक्ति की इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) अच्छी है उसका कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ सकता। प्राणायाम एवं आयुर्वेदिक दवाओं के उपयोग से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अच्छी हो जाती है।

कोरोना के संक्रमण को तोड़ने में अश्वगंधा व गिलोए उपयोगी

बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण को तोड़ने में अश्वगंधा एवं गिलोए अत्यंत कारगर होते हैं। कोरोना मरीजों के उपचार में इनके उपयोग के अच्छे परिणाम सामने आए हैं।

6 प्राणायाम नियमित रूप से करें

बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए 6 प्राणायाम भस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोम, विलोम, भ्रामरी एवं उज्जयी प्राणायाम नियमित रूप से करें। कोरोना के मरीज भी ये प्राणायाम कर सकते हैं। प्राणायाम का तुरंत लाभ होता है।

गिलोए, तुलसी, काली मिर्च, हल्दी, अदरक का काढ़ा पिएं

बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना को रोकने के लिए गिलोए, तुलसी, काली मिर्च, हल्दी एवं अदरक का काढ़ा रोज पिएं। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी अच्छी हो जाती है। गिलोए, अश्वगंधा एवं अणुतेल भी काफी उपयोगी हैं।

आरोग्य कसायन-20 से कोरोना मरीजों को लाभ

सचिव आयुष श्री एम.के. अग्रवाल ने बताया कि मध्यप्रदेश में क्वारेंटाइन सेंटर्स में रहने वाले 4 हजार लोगों को तथा कोरोना के 532 मरीजों को आरोग्य कसायन-20 आयुर्वेदिक औषधि दी गई, जिसके काफी अच्छे परिणाम सामने आए हैं। इन मरीजों में से 504 मरीज स्वस्थ होकर घर चले गए हैं। प्रदेश में 7 आयुर्वेद चिकित्सा विशेषज्ञों की टीम निरंतर शोध कर रही है कि कोरोना के विरूद्ध कौन-कौन सी आयुर्वेद की दवाएं अत्यंत उपयोगी हैं। इस संबंध में एक शोध पत्र भी तैयार किया गया है।

40 साल से बीमार नहीं हुआ

योग गुरू श्री रामदेव ने बताया कि वे 40 साल से एक बार भी बीमार नहीं हुए हैं। जब भी थोड़ी अस्वस्थता महसूस होती है वे काढ़े एवं गिलोए का उपयोग करते हैं। साथ ही नियमित रूप से प्राणायाम करते हैं।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों के प्रश्नों के उत्तर दिए

बाबा श्री रामदेव ने वीसी में प्रदेश के सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों से कोरोना के उपचार के विषय में चर्चा की। चिकित्सा अधिकारियों ने बाबा रामदेव को बताया कि वे किस प्रकार उनके जिलों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं, प्राणायाम आदि का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों द्वारा पूछे गए प्रश्नों के भी समाधानकारक उत्तर दिए।