Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


आइपीएल के मुख्य प्रायोजक बनने के लिए कई बड़ी कंपनियां होड़ में      |      विद्या बालन की 'शकुंतला देवी' सबसे अधिक देखी जाने वाली दूसरी फ़िल्म      |      अमित शाह ने कोरोना को दी शिकस्‍त,अभी होम आइसोलेशन में रहेंगे      |      समृद्ध, विकसित और आत्मनिर्भर प्रदेश की पहचान बनायेगा मध्यप्रदेश      |      राज्यपाल द्वारा स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी सम्मानित      |      आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप पर बनी डॉक्यूमेंट्री शुक्रवार को होगी रिलीज      |      करीना कपूर ने इंस्टाग्राम पर शेयर की ये फोटो      |      किसी भी शहर में नहीं दिखे कचरे का ढेर : नगरीय विकास मंत्री भूपेन्द्र सिंह      |      कोरोना के बावजूद ट्रक एवं बस ऑपरेटर्स की माँगों पर सरकार सहानुभूतिपूर्वक करेगी विचार- परिवहन मंत्री श्री राजपूत      |      मुख्यमंत्री निवास में जन्माष्टमी पर्व मनाया गया      |      रोडमेप में शामिल सभी क्षेत्रों में होंगे कार्य, जो बनेंगे आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के साक्षी      |      सचिन तेंदुलकर ने शेयर की अपनी मानसून स्टोरी      |      करीना कपूर- सैफ अली खान के घर आने वाला है नन्हा मेहमान      |      कांग्रेस के नेता राजीव त्यागी का हार्ट अटैक से निधन      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की बधाई      |      प्रदेश में कोरोना की रिकवरी रेट 75 प्रतिशत हुई      |      बीसीसीआइ की एक टीम यूएई में इंडियन प्रीमियर लीग 2020 की तैयारियों का जायजा लेने के लिए जाएगी      |       मशहूर शायर राहत इंदौरी नहीं रहे      |      राज्यपाल श्रीमती पटेल से मिले स्कूली बच्चे      |      प्रदेश में कोरोना की रिकवरी रेट 75 प्रतिशत हुई      |      प्रदेश में बनेगा एकीकृत जॉब पोर्टल: मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      एक महीने के अंदर चुना जाएगा नया आईसीसी चेयरमैन      |      वजन बढ़ने पर लोग करने लगे थे भद्दे कमेंट्स-दीपिका सिंह      |      आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप के लिए बीसीसीआई ने डाला टेंडर      |      पुस्तक अध्ययन को आदत बनाएं      |      नई शिक्षा नीति का मध्यप्रदेश में होगा आदर्श क्रियान्वयन- मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      "गंदगी भारत छोड़ो-मध्यप्रदेश" अभियान 16 से 30 अगस्त तक      |      आइसीसी चेमरमैन के चुनाव के लिए नॉमिनेशन प्रक्रिया पर रहेगा जोर      |      मौनी रॉय के रिंग फिंगर पर दिखी हीरे की अंगूठी      |      मंत्री डॉ. मिश्रा ने हितग्राहियों को ट्राइसिकल और आर्थिक सहायता के चेक प्रदान किए      |      

आनंद की बात

दुनिया में अब तक 211597 लोगों की जान ले चुका है। अभी तक जितने शोध सामने आए हैं उनमें ये बात सामने आ चुकी है कि कुछ मरीजों में इस वायरस के शुरुआती लक्षण दिखाई नह
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य-दिव्य मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन तो बुधवार को होना है लेकिन इससे पहले मंगलवार को ही नए मॉडल की तस्वीर सामने आ गई है।... ...
आगे पढ़ें
कोरोनो वायरस महामारी ने दुनिया के लगभग सभी हिस्सों में चिंता और दहशत पैदा कर दी है, लेकिन बुज़ुर्गों, मधुमेह और हृदय की समस्याओं, धूम्रपान करने वाले लोगों और गर्भवती महिलाओं को COVID-19 के लिए उच्च जोखिम वाली श्रेणी में रखा गया है।...
आगे पढ़ें
"चंबल एक्सप्रेस-वे" अब जाना जाएगा "चंबल प्रोग्रेस-वे" के नाम सेBookmark and Share

 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में देश की पहली वर्चुअल केबिनेट की बैठक हुई। वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में मंत्रियों ने विभिन्न स्थानों से भागीदारी की ।

मंत्रि-परिषद की बैठक में 'चंबल एक्सप्रेस-वे' का नाम बदलकर 'चंबल प्रोग्रेस-वे' करने निर्णय लिया गया। साथ ही भारतमाला परियोजना के अन्तर्गत चंबल प्रोग्रेस-वे के निर्माण की स्वीकृति दी गयी। योजना के अन्तर्गत मध्यप्रदेश-राजस्थान सीमा से मुरैना होते हुए भिण्ड जिले तक 309 किलोमीटर की फोरलेन ग्रीन फील्ड सड़क के निर्माण को अनुमोदन प्रदान किया गया। परियोजना के लिए राज्य सरकार द्वारा नि:शुल्क भूमि उपलब्ध करायी जाएगी। अर्जित की जाने वाली निजी भूमि को यथासंभव शासकीय भूमि से अदला-बदली के माध्यम से किया जायेगा।

कोविड संक्रमित व्यक्तियों के इलाज की व्यवस्था का अनुसमर्थन

मंत्रि-परिषद ने कोविड संक्रमित व्यक्तियों के इलाज की व्यवस्थाओं का अनुसमर्थन किया, जिसमें जन आरोग्य योजना के तहत भारत सरकार द्वारा निर्धारित पात्रता रखने वाले व्यक्तियों द्वारा मान्यता प्राप्त चिकित्सालयों में कोविड का इलाज कराने पर निर्धारित पैकेज के मान से आयुष्मान भारत निरामय मध्यप्रदेश द्वारा 40 प्रतिशत व्यय भार राज्य वहन करेगा। इसी प्रकार जन आरोग्य योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा निर्धारित पात्रता रखने वाले व्यक्तियों द्वारा मान्यता प्राप्त चिकित्सालयों में कोविड का इलाज कराने पर निर्धारित पैकेज के मान से आयुष्मान भारत निरामय मध्यप्रदेश द्वारा शत-प्रतिशत व्यय भार राज्य वहन करेगा। जो व्यक्ति उपरोक्त दोनो श्रणियों में पात्रता नहीं रखते है उनका शासकीय अस्पतालों/ अनुबंधित निजी अस्पतालों में नि:शुल्क इलाज होगा। गैर अनुबंधित अस्पतालों में इलाज स्वयं के व्यय पर करवाया जा सकेगा।

कोविड अस्पताल/ कोविड हैल्थ केयर सेंटर के लिए निजी चिकित्सालयों के साथ राज्य स्तरीय समिति की उपसमिति के अनुमोदन के बाद अनुबंध निष्पादन किया जायेगा। अस्पतालों को देय राशि का भुगतान जन आरोग्य योजना के अंतर्गत निर्धारित बेड्स की संख्या के आधार पर होगा। देय राशि का 60 प्रतिशत मासिक स्थाई लागत के रूप में और 40 प्रतिशत परिवर्तनशील लागत के रूप में देय होगा। कोविड अस्पताल/ कोविड हैल्थ केयर सेंटर में जन आरोग्य योजना अंतर्गत भारत सरकार द्वारा निर्धारित पात्रता रखने वाले व्यक्तियों के इलाज पर होने वाले व्यय के 60 प्रतिशत की प्रतिपूर्ति भारत सरकार द्वारा की जायेगी। प्रस्ताव उप समिति द्वारा अनुमोदित किया जायेगा। निजी चिकित्सालयों के साथ अनुबंध 3 माह की अवधि के लिये है और उन्हें आवश्यकता पड़ने पर ही बढ़ाने का प्रावधान होगा।

मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना में होगें लगभग 14 करोड़ व्यय

मंत्रि-परिषद ने मुख्यमंत्री ग्रामीण पथ विक्रेता ऋण योजना को अनुसमर्थन प्रदान किया। योजना के तहत 18 से 55 वर्ष आयु वर्ग के पात्र व्यक्तियों को व्यवसाय के लिए 10 हजार रूपये तक की कार्यशील पूंजी बैंक से ऋण के रूप से उपलब्ध करायी जायेगी। जुलाई 2020 से मार्च 2022 तक लागू होने वाली इस योजना में एक लाख ग्रामीण गरीबों को लाभांवित करने का लक्ष्य है। योजना से लगभग 14 करोड़ रूपये का वार्षिक वित्तीय भार आएगा ।

फसल बीमा योजना के लिए 12 हजार 799 करोड़ से अधिक की राशि

मंत्रि-परिषद ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को खरीफ 2020-21 से रबी 2020-22 तक लागू किए जाने के प्रस्ताव को कार्योत्तर अनुमोदन प्रदान किया। ‍ योजना में तीन वर्ष के प्रीमियम के लिए राज्य सरकार पर 6494 करोड़ 15 लाख रूपये का वित्तीय भार आएगा। केन्द्र सरकार से योजना में 6305 करोड़ रूपये प्राप्त होने की संभावना है। इस प्रकार योजना 12,799 करोड़ से अधिक की होगी। खुली निविदा के माध्यम से बीमा कंपनी का चयन किया जायेगा ।

कैम्पा निधि के अन्तर्गत वार्षिक प्रबंधन

मंत्रि-परिषद ने कैम्पा निधि के अन्तर्गत वार्षिक प्रबंधन स्कीम के तहत वर्ष 2020-21 के अनुमोदित कार्य योजना के लिए 833 करोड़ 54 लाख तथा वर्ष 2019-20 के अतिरिक्त अनुमोदित कार्य योजना के लिए राशि रूपये 149 करोड़ 14 लाख रूपये के प्रस्ताव का अनुसमर्थन किया। कैम्पा राशि से वन क्षेत्र में विगत वर्षो के कार्यो के रख-रखाव, बफर क्षेत्र में रहवास का विकास, बिगडे वनों को सुधार, नदियों का पुनर्जीवन, जल संरक्षण के कार्य, गांव की सीमा में वन क्षेत्रों में बांस का रोपण, वन्य प्राणी संरक्षित क्षेत्रों में ग्रामों का स्वैच्छिक विस्थापन, क्षतिपूर्ति वृक्षारोपण, नगर वनों की स्थापना तथा अधोसंरचना सुदृढ़ीकरण संबंधी कार्यो की प्राथमिकता निर्धारित की गयी है।

नगर परिषदों संबंधी निर्णय

मंत्रि-परिषद ने 21 नगर परिषदों संबंधी अधिसूचना निरस्त कर उन्हें यथावत नगर परिषद रखने के प्रस्ताव को कार्योत्तर अनुमोदन प्रदान किया।