Today Visitor :
Total Visitor :


INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया      |      डोकलाम विवाद: भारत-चीन की सीमा से सटे पोस्टों पर फौज की तैनाती बढ़ी      |      IIFA में कंगना‌ पर छींटाकशी के सवाल से श्रद्धा कपूर ने यूं काटी कन्नी      |       कांगो में अगवा किया गया भारतीय नागरिक रिहा: सुषमा      |      झमाझम बारिश में भीगा पूरा भोपाल, अगले 24 घंटे ऐसा ही बना रह सकता है मौसाम      |      वुमेंस वर्ल्ड कप का पहला सेमीफाइल आज, इंग्लैंड-दक्षिण अफ्रीकी के बीच भिड़ंत      |      मैं रिश्तों को लेकर उतना अच्छा नहीं हूं : शाहरूख खान      |      राष्ट्रपति चुनाव में करीब 99% मतदान, 20 जुलाई को आएगा फैसला      |      मैं रिश्तों को लेकर उतना अच्छा नहीं हूं : शाहरूख खान      |      भारत और अमेरिका बढ़ाएंगे रक्षा सहयोग, 621.5 अरब डॉलर का बिल मंजूर      |      आज भोपाल में गरज- चमक के साथ हल्की बूंदाबांदी के आसार      |      कमाल खान फिर से ‘ओ ओह जाने जाना’ गाना लाना चाहते हैं      |      कभी नहीं सोचा था इतने विम्बलडन खिताब जीतूंगा: फेडरर      |      राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान जारी, सपा में फूट, शिवपाल ने कोविंद को दिया वोट      |      राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग जारी, सीएम समेत 208 विधायकों ने डाला वोट      |      डोकलाम पर कोई समझौता नहीं होगा, भारत सेना हटाए तभी होगी बात: चीनी मीडिया      |      अमरनाथ      |      अमरनाथ      |      श्रीदेवी के साथ दोबारा काम करना चाहते हैं अक्षय खन्ना      |      श्रीदेवी के साथ दोबारा काम करना चाहते हैं अक्षय खन्ना      |      रोजर फेडरर रिकॉर्ड आठवी बार बने विंबलडन चैंपियन      |      राष्ट्रपति चुनाव के लिए कल होगी वोटिंग      |      राष्ट्रपति चुनाव पर बोलीं सोनिया      |      हॉस्पिटल में स्वस्थ वातावरण बनाने में पेंटिंग्स की अहम भूमिका-राज्य मंत्री श्री सारंग      |      किसानों को उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिये तात्कालिक और दीर्घकालिक उपाय किये जायेंगे      |      WWC 2017: कप्तान मिताली राज के शतक से भारत ने न्यूजीलैंड को दिया 266 रनों का लक्ष्य      |      GOLD थाली में शाहरुख ने ऐसे खाई दाल-बाटी, कटौरी-ग्लास भी थे सोने के      |      यूपी विधानसभा विस्फोटक कांड: सुरक्षा में चूक का बड़ा खुलासा, 100 में से 94 कैमरे नहीं कर रहे थे काम      |      3 दिन बाद हो सकती है फिर तेज बारिश, दक्षिणी और पश्चिमी क्षेत्र अलर्ट पर      |      डोकलाम से सैनिक वापस नहीं बुलाने पर चीन ने भारत को दी स्थिति बिगड़ने की धमकी      |      

आनंद की बात

हर ग्रह का अपना रंग है और उसी से मिलते रंग वाला रत्न उससे संबंधित होता है। आइए जानते हैं कैसे पता करें कि आपने कोई गलत रत्न तो धारण नहीं कर लिया और किया है तो उ
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
देशभर में शुक्रवार आधी रात से गुड्स एंड सर्विसेज़ टैक्स यानी जीएसटी लागू हो चुका है. इसके लागू होते ही कीमतों पर इसका असर दिखना शुरू हो गया है. नई टैक्स व्यवस्था एपल का प्रोडक्ट खरीदने की ख्वाहिश रखने वालों के लिए अच्छी खबर लाई है. नतीजतन अमेरिकी टे ...
आगे पढ़ें
शादी से पहले दूल्हा-दुल्हन को बहुत तैयारियां करनी पड़ती हैं. लेकिन आज हम बात कर रहे हैं उन लड़कियों की जिनकी शादी होने वाली हैं. जी हां आज हम भावी दुल्हनों के लिए पपीते से जुड़े ऐसे घरेलु नुस्खे लेकर आएं हैं जो दुल्हनों की रंगत को निखार सकते हैं. चल...
आगे पढ़ें
किसानों को उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिये तात्कालिक और दीर्घकालिक उपाय किये जायेंगेBookmark and Share

 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने के लिये तात्कालिक और दीर्घकालिक दोनों तरह के उपाय किये जायेंगे। तात्कालिक उपाय में किसानों को राहत पहुँचाने का काम जारी रहेगा। दीर्घकालिक उपाय में भण्डारण क्षमता बढ़ाई जायेगी, अधिकतम प्रोसेसिंग इकाईयाँ लगायी जायेंगी, मूल्य संवर्धन किया जायेगा और ग्लोबल मार्केट का लाभ लिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज यहाँ मंत्रालय में एग्रीकल्चर टास्क फोर्स की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में कृषि विशेषज्ञों के साथ किसानों को अधिक उत्पादन के बाद भी उचित मूल्य नहीं मिलने की चुनौती पर विचार विमर्श किया गया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कृषि उत्पादन वृद्धि में कीर्तिमान बना है। पर इसके साथ किसानों की उपज का मूल्य गिरने की समस्या सामने आई है। इसके समाधान की आदर्श व्यवस्था की जायेगी। इसके अंतर्गत ऐसी नीति बनाई जायेगी जिसमें कृषि उत्पादों के मूल्य संवर्धन और प्रोसेसिंग की व्यवस्था रहेगी। इसमें प्रोसेसिंग इकाईयों और भण्डारण क्षमता के लिये अधोसंरचना बनाने के लिये किसानों के युवा बच्चों को प्रोत्साहित किया जायेगा। प्रदेश में प्याज, आलू, फल-सब्जियों के लिये कोल्ड स्टोरेज श्रंखला बनायी जायेगी। इसके साथ ही मार्केटिंग पर ध्यान दिया जायेगा। प्रदेश के विशिष्ट उत्पादों जैसे मालवा के आलू, शरबती गेहूँ, नर्मदा किनारे के क्षेत्र में उत्पादित होने वाली तुअर दाल, नीमच के जीरन में पैदा होने वाली एक कली की लहसुन की मार्केटिंग की जायेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में पिछले पाँच सालों में खाद्यान्न का उत्पादन दोगुना हो गया है। प्रदेश में सिंचाई का रकबा बढ़ा है। बीज प्रतिस्थापन की दर 30 प्रतिशत हो गयी है। खाद के अग्रिम भण्डारण की व्यवस्था की गई है। मिट्टी परीक्षण में प्रदेश देश में अग्रणी है। उत्पादन बढ़ाने के सभी पक्षों पर तेजी से काम किया गया है जिससे उत्पादन बढ़ा है। उत्पादन बढ़ने के बाद भी किसानों को उचित मूल्य नहीं मिलने की समस्या सामने आई है। इसके लिये तात्कालिक रूप से प्याज आठ रूपये प्रति किलो तथा तुअर, उड़द, मूंग की समर्थन मूल्य पर खरीदी की गई है। इसके बाद भी समस्या के समाधान के लिये दीर्घकालिक उपाय आवश्यक है।

बैठक में उपस्थित कृषि विशेषज्ञों और मंत्रियों ने किसानों को उपज का उचित मिले, इसके लिये सुझाव दिये।

 

कृषि विशेषज्ञ डॉ. अशोक गुलाटी - कृषि उत्पादों के लिये भण्डारण क्षमता 5 से 10 गुना बढ़ायी जाये। इसके लिये निवेश किया जाये। कृषि उत्पादों की मार्केटिंग के लिये डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क से लिंकेज किया जाये। गुजरात में दुग्ध उत्पादन के लिये चलाये गये ऑपरेशन फ्लड की तरह मध्यप्रदेश में सब्जी उत्पादन के लिये ऑपरेशन वेजीस चलाया जाये।

 

कृषि विशेषज्ञ डॉ. पंजाब सिंह – मध्यप्रदेश की समस्या को चुनौती के रूप में लें। फूड प्रोसेसिंग और मूल्य संवर्धन में निवेश के माध्मय से ग्रामीण युवाओं को रोजगार दें। कृषि उत्पादन बढ़ाने के साथ उसकी सुरक्षा के उपायों पर ध्यान दें।

 

कृषि क्षेत्र के इंटरप्रेन्योर श्री प्रशांत अग्रवाल - भण्डारण और फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में युवाओं के प्रशिक्षण पर ध्यान दें। प्रशिक्षण की व्यवस्था जिला स्तर पर हो। ग्राम स्तर पर सब्जी मंडियों में कोल्ड स्टोरेज की व्यवस्था हो।

 

कृषि विशेषज्ञ डॉ. ज्ञानेन्द्र सिंह - कृषि यंत्रों के कस्टम हायरिंग के तरह भण्डारण और प्रोसेसिंग में भी व्यवस्था की जाये। ग्रामीण क्षेत्र में कृषि उत्पादों के प्रोसेसिंग और भण्डारण के लिये अधोसरंचना विकसित की जाये।

 

कृषि विशेषज्ञ डॉ. आर.के. पाटिल - गाँव – गाँव में प्रोसेसिंग की छोटी इकाईयाँ स्थापित की जायें। प्रोसेस्ड फूड के लिये उत्पाद तैयार किये जायें।

 

वित्त मंत्री श्री जयंत मलैया – किसानों के लिये समर्थन मूल्य पर खरीदी सुनिश्चित की जाये। भण्डारण क्षमता बढ़ाई जाये।

 

कृषि मंत्री श्री गौरीशंकर बिसेन – क्वालिटी फूड पर ध्यान देना चाहिये। जैविक उत्पादों के लिये बेहतर अवसर हैं।

 

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री गोपाल भार्गव – भण्डारण क्षमता के लिये राष्ट्रीय संस्थान व्यवस्था करे। किसान कृषि उत्पादों के मूल्यों के उतार-चढ़ाव से प्रभावित नहीं हों, ऐसी व्यवस्था की जाये।

 

वन मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार – प्याज और टमाटर जैसे उत्पादों की प्रोसेसिंग इकाई जिलों में स्थापित हो।

 

ऊर्जा मंत्री श्री पारस जैन – वैश्विक बाजार में निर्यात किये जाने योग्य उत्पाद तैयार करने के संयंत्र स्थापित किये जायें।

 

सहकारिता राज्यमंत्री श्री विश्वास सारंग - सहकारिता के क्षेत्र में फूड प्रोसेसिंग इकाईयाँ लगायी जायें। भण्डारण के लिये मल्टीयूटीलिटी गोदाम बनाये जायें।

 

बैठक में खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री श्री ओमप्रकाश धुर्वे, नर्मदा घाटी विकास राज्यमंत्री श्री लाल सिंह आर्य, पर्यटन राज्यमंत्री श्री सुरेन्द्र पटवा, उद्यानिकी राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा, मुख्य सचिव श्री बी.पी.सिंह सहित संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।