Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


दिलीप कुमार की पत्नी ने मोदी से मांगी मदद      |      शादी के बंधन में बंधे सायना नेहवाल और परूपल्ली कश्यप      |      परिणीति ने शादी की खबरों को बताया अफवाह      |      हॉकी वर्ल्ड कप-बेल्जियम पहली बार चैम्पियन बना      |      भूपेश बघेल होंगे छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री      |      बेल्जियम पहली बार फाइनल में पहुंचा, इंग्लैंड को 6-0 से हराया      |      जीरो का प्रमोशन करने बिग बॉस के घर पहुंचे शाहरुख      |      छत्तीसगढ़ / सीएम का ऐलान कल      |      राज्यपाल ने श्री कमलनाथ को मुख्यमंत्री पद ग्रहण करने का आमंत्रण दिया      |      राफेल / कांग्रेस ने देश की सुरक्षा से खिलवाड़ किया, 70 जगहों पर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उसे बेनकाब करेंगे: भाजपा      |      पाकिस्तान को एशिया कप 2020 की मेजबानी मिल गई      |      लता मंगेशकर ने किया ट्वीट - मैं बिलकुल स्वस्थ्य हूं और अपने घर में हूं      |      अशोक गहलोत राजस्थान के मुख्यमंत्री सचिन पायलट डिप्टी सीएम बनेंगे      |      राफेल डील -सुप्रीम कोर्ट ने सभी याचिकाएं खारिज      |      राज्यपाल ने श्री कमलनाथ को मुख्यमंत्री पद ग्रहण करने का आमंत्रण दिया      |      भारत-ऑस्ट्रेलिया दूसरा टेस्ट-पृथ्वी शाॅ, अश्विन और रोहित शर्मा बाहर      |      भारत में 2018 में सबसे ज्यादा सर्च की गईं प्रिया वारियर      |       एसबीआई - कर्जमाफी बैंकिंग समुदाय के लिए बड़ी चुनौती      |      केसीआर दूसरी बार बने मुख्यमंत्री      |      घुड़सवारी अकादमी के खिलाड़ी प्रणय खरे ने जीता स्वर्ण पदक      |      पहले टेस्ट में जीत के बाद रवि शास्त्री के बिगड़े बोल, कहा- नेट प्रैक्टिस को गोली मारो      |      दुल्हन की तरह सजा अमृतसर वाला घर, लाल-सफेद फूलों से हुआ डेकोरेशन      |      कांग्रेस ने भाजपा से छत्तीसगढ़ छीना, राजस्थान में भी बहुमत; मप्र में बराबरी का मुकाबला      |      मतदाता जागरूकता विषयक 4 नेशनल मीडिया अवार्ड देगा भारत निर्वाचन आयोग      |      चीन में अमेरिकी टेक फर्मों के मुकाबले की कंपनियां      |      फुटबॉल / मेसी ने पहली बार एक मैच में 2 फ्री किक जमाई, बार्सिलोना 4-0 से जीता      |      बॉक्स ऑफिस / केदारनाथ ने ओपनिंग वीकेंड में कमाए 27 करोड़      |      अमेरिका / 2020 में डेमोक्रेटिक पार्टी से राष्ट्रपति चुनाव लड़ सकते हैं जॉन कैरी      |      विजय माल्या भारत लाया जाएगा, कोर्ट ने मंजूरी दी; मामला ब्रिटिश सरकार को रेफर किया      |      मानव अधिकार को नारा नहीं, संस्कार स्वरूप आत्मसात करें : राज्यपाल      |      

आनंद की बात

विटामिन 'C' यानि एस्कॉर्बिक एसिड शरीर को स्कर्वी बीमारियों से बचाने में मदद करता है। साथ ही रोजाना इसका सेवन किया जाए तो सर्दी-खांसी, जुकाम और वायरल इंफैक्शन ज
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
स्वस्थ रहने के लिए ताजी हरी सब्जियों का सेवन बहुत फायदेमंद होता है लेकिन कुछ सब्जियां ऐसी भी हैं, जोकि आपकी सेहत के लिए खतरा बन सकती हैं। जी हां, हाल ही में हुए रिसर्च के मुताबिक फूलगोभी और पत्तागोभी जैसी सब्जियां दिमाग को नुकसान पहुंचा रही हैं। ...
आगे पढ़ें
फिटनेस को लेकर महिलाएं आजकल काफी सजग हो गई हैं। वह मोटापा घटाने के लिए एक्सरसाइज के साथ जिम में भी खूब पसीना बहाती है। मगर जिम में वर्कआउट या एक्सरसाइज करते समय आपको बहुत-सी बातों का ध्यान रखना पड़ता है क्योंकि इस दौरान गई कुछ गलतियां आपको नुकसान भी ...
आगे पढ़ें
भारत-फ्रांस के बीच 14 समझौतों पर हुए करारBookmark and Share

 

प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों के बीच विस्तृत बातचीत के बाद भारत और फ्रांस ने सुरक्षा, परमाणु ऊर्जा के साथ-साथ गोपनीय सूचनाओं के संरक्षण जैसे रणनीतिक क्षेत्रों में महत्वपूर्ण समझौते किए. दोनों देशों के बीच 14 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए. दोनों नेताओं की मौजूदगी में शिक्षा, पर्यावरण, शहरी विकास और रेलवे के क्षेत्र में भी करार किए गए हैं.

फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर कांग्रेस के आरोपों के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों की मौजूदगी में जोर दिया कि दोनों देशों में द्विपक्षीय संबंधों को लेकर सभी दलों में सहमति है. फ्रांस के साथ संबंधों का ग्राफ सिर्फ ऊंचा ही जाता है, चाहे सरकार किसी की हो. प्रधानमंत्री मोदी ने प्रेस वक्तव्य में कहा, ‘‘ रक्षा, सुरक्षा, अंतरिक्ष और उच्च प्रौद्योगिकी में भारत और फ्रांस के द्विपक्षीय सहयोग का इतिहास बहुत लम्बा है. दोनों देशों में द्विपक्षीय संबंधों के बारे में सभी दलों में सहमति है. सरकार किसी की भी हो, हमारे संबंधों का ग्राफ़ सिर्फ़ और सिर्फ़ ऊँचा ही जाता है.’’

मैक्रों के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दोनों देशों का रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में मजबूत सहयोग है. फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और फ्रांस ने आतंकवाद और कट्टरता से निपटने के लिए के मिलकर काम करने का फैसला किया है. दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग महत्वपूर्ण है. मोदी और मैक्रों ने भारत-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग पर भी चर्चा की.

कल रात भारत पहुंचे मैक्रों का आज सुबह राष्ट्रपति भवन में औपचारिक तौर पर स्वागत किया गया. इस दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी आगवानी की. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘ फ्रांस और भारत की एक मंच पर उपस्थिति एक समावेशी, खुले, और समृद्ध व शान्तिमय विश्व के लिए सुनहरा संकेत है. हमारे दोनों देशों की स्वायत्त और स्वतंत्र विदेश नीतियाँ सिर्फ अपने-अपने हित पर ही नहीं, अपने देशवासियों के हित पर ही नहीं, बल्कि सार्वभौमिक मानवीय मूल्यों को सहेजने पर भी केंद्रित है.’’

पीएम मोदी ने कहा कि आज वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के लिए यदि कोई दो देश कंधे से कंधा मिला कर चल सकते हैं, तो वे भारत और फ्रांस हैं. उन्होंने कहा, ‘‘ आज की हमारी बातचीत में जो निर्णय लिए गए, उनका एक परिचय आपको अभी हुए समझौतों में मिल गया है. और इसलिए, मैं सिर्फ़ तीन विशिष्ठ विषयों पर अपने विचार रखना चाहूँगा.’’ उन्होंने कहा कि रक्षा क्षेत्र में दोनों देशों के संबंध बहुत गहन हैं, और भारत, फ्रांस को सबसे विश्वस्त रक्षा साझेदारों में एक मानता है. दोनों देशों की सेनाओं के सभी अंगों के बीच विचार-विमर्श और युद्ध अभ्यासों का नियमित रूप से आयोजन होता है. रक्षा उपकरणों और उत्पादन में दोनों देशों के संबंध मजबूत हैं. रक्षा क्षेत्र में फ्रांस द्वारा मेक इन इंडिया के प्रतिबद्धता का हम स्वागत करते हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ आज हमारी सेनाओं के बीच एक दूसरे को लॉजिस्टिक सहयोग के समझौते को मैं हमारे घनिष्ठ रक्षा सहयोग के इतिहास में एक स्वर्णिम क़दम मानता हूँ .’’ हिन्द महासागर क्षेत्र में सहयोग को रेखांकित करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ हम दोनों का मानना है कि भविष्य में विश्व में सुख-शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए हिन्द महासागर क्षेत्र की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होने वाली है.’’ उन्होंने कहा कि चाहे पर्यावरण हो, या सामुद्रिक सुरक्षा, या सामुद्रिक संसाधन, या नौवहन और उड़ान भरने की स्वतंत्रता इन सभी विषयों पर हम अपना सहयोग मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. और इसलिए, आज हिन्द महासागर क्षेत्र में अपने सहयोग के लिए एक संयुक्त सामरिक दृष्टि जारी कर रहे हैं.

गौरतलब है कि हिन्द महसागर क्षेत्र में चीन की ओर से प्रभाव बढ़ाने के कोशिशों के बीच इस बयान को महत्वपूर्ण माना जा रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि तीसरा, दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों के उज्जवल भविष्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण आयाम है... लोगों से लोगों के सम्पर्क, विशेष रूप से हमारे युवाओं के बीच. ‘‘ हम चाहते हैं कि हमारे युवा एक दूसरे के देश को जानें, एक दूसरे के देश को देखें, समझें, वहां रहें, वहां काम करें, ताकि हमारे संबंधों के लिए हज़ारों राजदूत तैयार हों. इस दिशा में समझौता महत्वपूर्ण कदम है.’’

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के संबंधों के अन्य कई आयाम हैं. रेलवे, शहरी विकास, पर्यावरण, सुरक्षा, अंतरिक्ष, यानि ज़मीन से आसमान तक, ऐसा कोई विषय नहीं है जिस पर हम साथ मिल कर काम न कर रहे हों. अंतर्राष्ट्रीय पटल पर भी दोनों देश सहयोग और समन्वय के साथ काम करते हैं.

 

अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि अफ्रीकी देशों से भारत और फ्रांस के मज़बूत सम्बन्ध रहे हैं. ये हमारे सहयोग का एक और आयाम विकसित करने का मज़बूत आधार प्रदान करते हैं. कल अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की स्थापना से जुड़ा सम्मेलन की सह-अध्यक्षता राष्ट्रपति मैक्रों और प्रधानमंत्री मोदी करेंगे. उन्होंने कहा कि हमारे साथ कई अन्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष, शासनाध्यक्ष और मंत्रीगण भी उपस्थित होंगे. पृथ्वी के भविष्य की खातिर, हम सभी अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की सफ़लता के लिए प्रतिबद्ध हैं.