Today Visitor :
Total Visitor :


विराट कोहली और मीराबाई चानू को मिला खेल रत्न      |      वैस्टर्न पसंद हैं तो प्रियंका की ड्रेसेज से लें आइडियाज      |      सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी बरसी पर ‘पराक्रम पर्व’      |      दागी सांसदों पर SC का बड़ा फैसला      |      प्रधानमंत्री श्री मोदी का भोपाल विमान तल पर आत्मीय स्वागत      |      रोहित- शिखर ने तोड़ा वनडे में सहवाग और सचिन का सबसे पुराना रिकॉर्ड      |      'तारक मेहता का उलटा चश्मा' में होगी 'दयाबेन' की वापसी, फीस में भी हुई बढ़ोतरी      |       प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की पहली लाभार्थी बनी पूनम महतो,      |      भोपाल-इन्दौर मेट्रो रेल परियोजना के लिये 405 पद के सृजन की मंजूरी      |      ब्लूव्हेल के बाद मोमो गेम बना जानलेवा, CBSE ने सर्कुलर जारी कर स्कूलों को चेताया      |      आयुष्मान भारत एक नयी क्रांति- मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रेमपुरा घाट पर किया भगवान श्रीगणेश प्रतिमा का विसर्जन      |      पर्रिकर बने रहेंगे मुख्यमंत्री, कैबिनेट में बदलाव का ऐलान जल्द: अमित शाह      |      लगता है ओलांद का बयान राहुल को पहले से पता था, इसमें कुछ जुगलबंदी है: जेटली      |      पाक फैन ने गाया भारतीय राष्ट्रगान, कहा- शांति की ओर एक प्रयास      |      शूटिंग छोड़ मुम्बई पहुंचे रनबीर, आरके स्टूडियो की आखिरी गणेश पूजा में हुए शामिल      |      सिंधू और श्रीकांत की हार के साथ भारतीय चुनौती समाप्त      |      सिंपल या हैवी, चूज करें परफैक्ट नथ       |      छत्तीसगढ़ में शाह का दावा, तीनों राज्यों में बनेगी भाजपा सरकार      |      राफेल पर सरकार के झूठ का पर्दाफाश : कांग्रेस      |      जुन्नारदेव, परासिया में चालू की जायेंगी 6 नई खदानें : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      ऐसे 2 भारतीय गेंदबाज जिन्होंने ODI में अपनी पहली ही गेंद पर लिया विकेट      |      किम से कम नहीं अनूप की गर्लफ्रैंड जसलीन      |       जेट एयरवेज मामला: 5 यात्रियों को सुनाई देने में दिक्कत      |      ओडिशा में उवर्रक संयंत्र, हवाई अड्डे का उद्घाटन करेंगे PM      |      धान के समर्थन मूल्य पर इस वर्ष भी दिया जायेगा बोनस : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने श्रीलंका को 13 रनों से हरा दिया      |      शॉर्ट ड्रैसिज पहनने की शौकीन है तो आलिया से लीजिए Ideas      |      राहुल गांधी का पीएम मोदी पर हमला      |      जरूरतमंदों को समय पर मिले सरकारी योजनाओं का लाभ : राज्यपाल      |      

आनंद की बात

गणेश चतुर्थी आने वाली है। गणेश चतुर्थी पर मीठा बनाने की सोच रही हैं तो इस बार आप बप्पा को भोग लगाने के लिए गुड़ और नारियल से घर में ही मोदक तैयार कर सकती हैं। य
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
अगर कुछ ऐसा है, जिसके बिना भारतीय लड़कियों का मेकअप कंपलीट नहीं होता तो वह है काजल। इसके बिना लड़कियों का अपना मेकअप अधूरा लगता है। काजल आंखों की खूबसूरती तो बढ़ाने के साथ उसे अट्रैक्टिव भी दिखाता है। ऐसा में भला कोई लड़की काजल अप्लाई क्यों न करें ले ...
आगे पढ़ें
अंजीर मल्‍बेरी फैमिली का एक लोकप्रिय मौसमी फल है। अंजीर में बहुत से गुण पाए जाते हैं । भारत में इसे सूखे और ताजे दोनों तरह इस्तेमाल किया जाता है। अंजीर बैंगनी, हरे और अन्य कई रंगों में पाया जाता है।...
आगे पढ़ें
भारत-फ्रांस के बीच 14 समझौतों पर हुए करारBookmark and Share

 

प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों के बीच विस्तृत बातचीत के बाद भारत और फ्रांस ने सुरक्षा, परमाणु ऊर्जा के साथ-साथ गोपनीय सूचनाओं के संरक्षण जैसे रणनीतिक क्षेत्रों में महत्वपूर्ण समझौते किए. दोनों देशों के बीच 14 समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए. दोनों नेताओं की मौजूदगी में शिक्षा, पर्यावरण, शहरी विकास और रेलवे के क्षेत्र में भी करार किए गए हैं.

फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर कांग्रेस के आरोपों के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों की मौजूदगी में जोर दिया कि दोनों देशों में द्विपक्षीय संबंधों को लेकर सभी दलों में सहमति है. फ्रांस के साथ संबंधों का ग्राफ सिर्फ ऊंचा ही जाता है, चाहे सरकार किसी की हो. प्रधानमंत्री मोदी ने प्रेस वक्तव्य में कहा, ‘‘ रक्षा, सुरक्षा, अंतरिक्ष और उच्च प्रौद्योगिकी में भारत और फ्रांस के द्विपक्षीय सहयोग का इतिहास बहुत लम्बा है. दोनों देशों में द्विपक्षीय संबंधों के बारे में सभी दलों में सहमति है. सरकार किसी की भी हो, हमारे संबंधों का ग्राफ़ सिर्फ़ और सिर्फ़ ऊँचा ही जाता है.’’

मैक्रों के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दोनों देशों का रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में मजबूत सहयोग है. फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और फ्रांस ने आतंकवाद और कट्टरता से निपटने के लिए के मिलकर काम करने का फैसला किया है. दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग महत्वपूर्ण है. मोदी और मैक्रों ने भारत-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग पर भी चर्चा की.

कल रात भारत पहुंचे मैक्रों का आज सुबह राष्ट्रपति भवन में औपचारिक तौर पर स्वागत किया गया. इस दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने उनकी आगवानी की. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘ फ्रांस और भारत की एक मंच पर उपस्थिति एक समावेशी, खुले, और समृद्ध व शान्तिमय विश्व के लिए सुनहरा संकेत है. हमारे दोनों देशों की स्वायत्त और स्वतंत्र विदेश नीतियाँ सिर्फ अपने-अपने हित पर ही नहीं, अपने देशवासियों के हित पर ही नहीं, बल्कि सार्वभौमिक मानवीय मूल्यों को सहेजने पर भी केंद्रित है.’’

पीएम मोदी ने कहा कि आज वैश्विक चुनौतियों का सामना करने के लिए यदि कोई दो देश कंधे से कंधा मिला कर चल सकते हैं, तो वे भारत और फ्रांस हैं. उन्होंने कहा, ‘‘ आज की हमारी बातचीत में जो निर्णय लिए गए, उनका एक परिचय आपको अभी हुए समझौतों में मिल गया है. और इसलिए, मैं सिर्फ़ तीन विशिष्ठ विषयों पर अपने विचार रखना चाहूँगा.’’ उन्होंने कहा कि रक्षा क्षेत्र में दोनों देशों के संबंध बहुत गहन हैं, और भारत, फ्रांस को सबसे विश्वस्त रक्षा साझेदारों में एक मानता है. दोनों देशों की सेनाओं के सभी अंगों के बीच विचार-विमर्श और युद्ध अभ्यासों का नियमित रूप से आयोजन होता है. रक्षा उपकरणों और उत्पादन में दोनों देशों के संबंध मजबूत हैं. रक्षा क्षेत्र में फ्रांस द्वारा मेक इन इंडिया के प्रतिबद्धता का हम स्वागत करते हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘ आज हमारी सेनाओं के बीच एक दूसरे को लॉजिस्टिक सहयोग के समझौते को मैं हमारे घनिष्ठ रक्षा सहयोग के इतिहास में एक स्वर्णिम क़दम मानता हूँ .’’ हिन्द महासागर क्षेत्र में सहयोग को रेखांकित करते हुए मोदी ने कहा, ‘‘ हम दोनों का मानना है कि भविष्य में विश्व में सुख-शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए हिन्द महासागर क्षेत्र की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होने वाली है.’’ उन्होंने कहा कि चाहे पर्यावरण हो, या सामुद्रिक सुरक्षा, या सामुद्रिक संसाधन, या नौवहन और उड़ान भरने की स्वतंत्रता इन सभी विषयों पर हम अपना सहयोग मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. और इसलिए, आज हिन्द महासागर क्षेत्र में अपने सहयोग के लिए एक संयुक्त सामरिक दृष्टि जारी कर रहे हैं.

गौरतलब है कि हिन्द महसागर क्षेत्र में चीन की ओर से प्रभाव बढ़ाने के कोशिशों के बीच इस बयान को महत्वपूर्ण माना जा रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि तीसरा, दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों के उज्जवल भविष्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण आयाम है... लोगों से लोगों के सम्पर्क, विशेष रूप से हमारे युवाओं के बीच. ‘‘ हम चाहते हैं कि हमारे युवा एक दूसरे के देश को जानें, एक दूसरे के देश को देखें, समझें, वहां रहें, वहां काम करें, ताकि हमारे संबंधों के लिए हज़ारों राजदूत तैयार हों. इस दिशा में समझौता महत्वपूर्ण कदम है.’’

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देशों के संबंधों के अन्य कई आयाम हैं. रेलवे, शहरी विकास, पर्यावरण, सुरक्षा, अंतरिक्ष, यानि ज़मीन से आसमान तक, ऐसा कोई विषय नहीं है जिस पर हम साथ मिल कर काम न कर रहे हों. अंतर्राष्ट्रीय पटल पर भी दोनों देश सहयोग और समन्वय के साथ काम करते हैं.

 

अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि अफ्रीकी देशों से भारत और फ्रांस के मज़बूत सम्बन्ध रहे हैं. ये हमारे सहयोग का एक और आयाम विकसित करने का मज़बूत आधार प्रदान करते हैं. कल अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की स्थापना से जुड़ा सम्मेलन की सह-अध्यक्षता राष्ट्रपति मैक्रों और प्रधानमंत्री मोदी करेंगे. उन्होंने कहा कि हमारे साथ कई अन्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष, शासनाध्यक्ष और मंत्रीगण भी उपस्थित होंगे. पृथ्वी के भविष्य की खातिर, हम सभी अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की सफ़लता के लिए प्रतिबद्ध हैं.