Put your alternate content here
Today Visitor :
Total Visitor :


शिल्पा शेट्‌टी के दिवंगत पिता ने लिया था 21 लाख का कर्ज, नहीं चुकाने पर शेट्‌टी फैमिली पर केस दर्ज      |      विराट को आखिरी दो वनडे और टी-20 सीरीज के लिए आराम      |      महात्मा गाँधी के विचारों को व्यवहारिक जीवन में आत्मसात करना जरूरी      |      आगामी खेलो इंडिया यूथ गेम्स के मैडल में हो चार गुना बढ़ोतरी      |      प्लेसमेंट के लिए योग्य विद्यार्थियों को ही रोजगार मेले में बुलाएँ      |      पेस-स्टोसुर की जोड़ी हारी, टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती समाप्त      |      डेब्यू / अनुराग कश्यप कर रहे परेश रावल के बेटे को लाॅन्च, बम्फाड से बॉलीवुड में एंट्री करेंगे आदित्य      |      बंगाल / ममता को डर था- भाजपा की रथ यात्रा निकलती तो उनकी सरकार की अंतिम यात्रा होती      |      दावोस में विश्व आर्थिक मंच पर मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ      |      वाराणसी / मोदी ने कहा- भारत जल्द ही चिप आधारित ई-पासपोर्ट जारी करेगा      |      अंकिता रैना सिंगापुर ओपन चैम्पियन बनीं      |      दिशा वकानी ने कहा तारक मेहता का उल्टा चश्मा को अलविदा कह दिया है      |      जनसम्पर्क मंत्री द्वारा सुश्री दिव्या पंवार सम्मानित      |      अंतिम व्यक्ति तक पहुँचे योजनाओं का लाभ - ऊर्जा मंत्री श्री सिंह      |      मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री पुरी से की भेंट      |      मुसीबत में पड़ी सुशांत की फिल्म राइफल मैन      |      प्रदेश के खिलाड़ियों ने जीते 8 स्वर्ण, 8 रजत और 15 कांस्य पदक      |      किसान भाइयों को मिलेगी सर्वोच्च प्राथमिकता - श्री जयवर्धन सिंह      |      घुमक्कड़, अर्द्धघुमक्कड़ और विमुक्त समुदाय को मिलेंगे रोजगार के अवसर      |      साहो में प्रभास के साथ थिरकेंगे इंटरनेशनल डांसर्स लॉरेंट-लैरी निकोलस      |      सेरेना 15वीं बार चौथे दौर में पहुंचीं      |      किसानों की फसल ऋण माफी की कार्यवाही तत्परता पूर्वक करें सहकारी बैंक      |      प्रयागराज कुंभ में होगा प्रदेश का मण्डप : मंत्री श्री शर्मा      |      दिगौड़ा को दिया जायेगा पूर्ण तहसील का दर्जा: राजस्व मंत्री श्री राजपूत      |      साइना मलेशिया मास्टर्स के सेमीफाइनल में      |      करणी सेना को कंगना ने दी चेतावनी; परेशान करना नहीं छोड़ा तो तबाह कर दूंगी      |      आगामी लोकसभा निर्वाचन, 2019 की तैयारियों की बैठक सम्पन्न      |      आँगनवाड़ियों में बिजली, पानी की व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करें : मंत्री श्रीमती इमरती देवी      |      एक डाक्टर सहित चार मेडिकल स्टॉफ के विरुद्ध कार्यवाही के निर्देश      |      मेघालय में नेवी टीम ने 35 दिन बाद 200 फीट की गहराई से एक शव निकाला      |      

आनंद की बात

25 December, Christmas Day 2018: 25 दिसंबर को पूरी दुनिया में क्रिसमस डे (Christmas Day) के तौर पर मनाया जाता है. इसे बड़ा दिन (Bada Din) भी कहते हैं. क्रिसमस
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
आपने अक्सर लोगों के घरों में लाफिंग बुद्धा की छोटी-बड़ी मूर्तियां या तस्वीरें देखी होंगी। लोग इसे सुख-समृद्धि का प्रतीक मानते हैं और गुड लक लाने के लिए अपने-अपने घरों में रखते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि लाफिंग बुद्धा थे कौन और कहां के रहने वाले थ ...
आगे पढ़ें
साल का वह समय आ गया है जब सभी लोग पार्टी के मूड में होते हैं। जी हां, हम बात कर रहे हैं क्रिसमस और न्यू ईयर की। क्रिसमस का त्यौहार भले ही प्रभु यीशू के जन्मदिन के तौर पर मनाया जाता हो लेकिन इस त्यौहार को सिर्फ ईसाई धर्म को मानने वाले ही नहीं बल्कि दु...
आगे पढ़ें
किसानों के लिये बजट में 20 हजार करोड़ की व्यवस्था : मुख्यमंत्री श्री चौहानBookmark and Share

 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि किसानों के लिये बजट में 20 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। यह राशि किसानों के बैंक खातों में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत पहुँचाई जायेगी। मुख्यमंत्री ने यह जानकारी सीहोर जिले की नसरुल्लागंज तहसील के गोपालपुर में 516 करोड़ 11 लाख की लागत की छीपानेर माइक्रो उद्वहन सिंचाई योजना के शिलान्यास और किसान सम्मेलन में दी। श्री चौहान ने 21 करोड़ 69 लाख की लागत की समूह नल-जल योजना तथा 2 करोड़ की लागत के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन का भी लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने बताया कि किसानों की खेती से आय बढ़ाने के लिये ही प्रदेश में सिंचाई का रकबा बढ़ाया जा रहा है। जहाँ नहरों के माध्यम से सिंचाई संभव नहीं है, वहाँ उद्वहन सिंचाई योजनाएँ बनाकर किसानों के खेतों तक पानी पहुँचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसान की मेहनत का सम्मान करती है। इसलिये किसानों के हित संरक्षण के लिये हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं।

श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में यह पहला मौका है, जब राज्य सरकार ने किसानों को पिछले वर्ष बेची गई गेहूँ की फसल के लिये 200 रुपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि देने का निर्णय लिया। आगामी 16 अप्रैल को शाजापुर में राज्य-स्तरीय समारोह में 10 लाख किसानों के खातों में 16 करोड़ की राशि जमा करवाई जायेगी। इसी दिन हर जिला मुख्यालय पर किसानों के खातों में प्रोत्साहन राशि जमा कराने का कार्य किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस बार भी किसानों को मण्डियों में गेहूँ बेचने पर 265 रुपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। श्री चौहान ने कहा कि चना, मसूर और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी पर भी किसान को समर्थन मूल्य के अलावा 100 रुपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। उन्होंने कहा कि मण्डी के बाहर गेहूँ और चने की बिक्री करने वाले किसानों को भी भावांतर योजना का लाभ दिया जायेगा। श्री चौहान ने बताया कि ऋण समाधान योजना में किसानों के कुल ऋण पर ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज का भुगतान राज्य सरकार करेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री असंगठित श्रमिक कल्याण योजना में अभी तक पौने दो करोड़ से अधिक श्रमिकों ने पंजीयन करवाया है। पंजीकृत श्रमिकों को विभिन्न शासकीय योजनाओं का लाभ, घर बनाने के लिये जमीन का पट्टा और आर्थिक सहायता तथा 200 रुपये मासिक फ्लेट रेट पर बिजली भी उपलब्ध करवायी जायेगी।

छीपानेर माइक्रो उद्वहन सिंचाई योजना

छीपानेर माइक्रो उद्वहन सिंचाई योजना से सीहोर जिले की नसरुल्लागंज तहसील और देवास जिले की खातेगाँव तहसील में 35 हजार 62 हेक्टेयर कृषि भूमि में सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी। योजना के निर्माण के लिये 516 करोड़ 11 लाख रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की गई है। योजना के अंतर्गत नर्मदा नदी के तट पर 5 विभिन्न स्थान पर कुल 12.64 क्यूमेक्स जल का उद्वहन किया जायेगा। ग्राम चीचली, करोंदमाफी, पीपलनेरिया, छीपानेर तथा चौरसाखेड़ी के पास पम्पिंग स्टेशन बनाये जायेंगे। पम्पिंग स्टेशन से 6 राइजिंगमेन द्वारा नर्मदा जल खेतों तक पहुँचेगा।

 

योजना की विशेषता यह है कि जल वितरण प्रणाली पाईप आधारित होगी। पाईप से जल प्रत्येक ढाई हेक्टेयर चक तक किसान को 20 मीटर दबाव पर उपलब्ध होगा। दाबयुक्त जल से किसान ड्रिप अथवा स्प्रिंकलर से सिंचाई कर सकेंगे। इस पद्धति से सिंचाई पर किसान को खेत समतल करने की आवश्यकता नहीं होगी। कम पानी से अधिक और उपयोगी सिंचाई का लाभ मिलेगा। यह योजना प्रधानमंत्री के 'पर ड्राप मोर क्राप'' अर्थात पानी की बूँद-बूँद का उपयोग कर न्यूनतम जल से अधिकतम सिंचाई करने पर आधारित है। जल वितरण प्रणाली पाईप आधारित होने से भूमि का स्थाई अर्जन नहीं होगा। पम्प हाउस के लिये केवल लगभग छ: हेक्टेयर भूमि के स्थाई अर्जन की आवश्यकता होगी।