Today Visitor :
Total Visitor :


आखिरी ओवर में धोनी-ब्रावो ने ऐसे दिलाई टीम को जीत      |      शॉर्ट फिल्म से कमबैक कर रही हैं हिना खान, दिखेगा देसी अवतार, यहां है First Look      |      कर्नाटक की लड़ाई गरमाई, पीएम मोदी बोले- ‘वोट के लिए समाज को बांटती है कांग्रेस’      |      वीजा पर ट्रंप की नई पॉलिसी से अमेरिका में रह रहीं 1 लाख से ज्यादा भारतीय महिलाएं मुश्किल में      |      प्रदेश में गरीबो की भलाई का नया इतिहास रचा - मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      BJP अध्यक्ष अमित शाह 4 मई को भोपाल में लेंगे मंडल अध्यक्षों की मीटिंग      |      कर्नाटक विधानसभा चुनाव: 15 से अधिक रैलियां करेंगे पीएम मोदी, 1 मई से शुरू करेंगे प्रचार      |      क्रिस गेल पर छाया सपना चौधरी का जादू, 'तेरी आंख्या का यो काजल' पर किया डांस      |      अफरीदी और शोएब मलिक के साथ खेलते दिखेंगे कार्तिक-पांड्या      |      जन्मदिन विशेष: अश्विन के कायल हुए सचिन, मयंक को माना सीजन का स्टार      |      रेप की घटनाओं पर बोले पीएम मोदी, ‘बेटियों के साथ जो राक्षसी काम करेगा, वो फांसी पर लटकेगा’      |      अक्षय कुमार की ‘केसरी’ के सेट पर ब्लास्ट के बाद लगी आग      |      प्रधानमंत्री श्री मोदी को राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री ने दी भावभीनी विदाई      |      भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में 5 पाकिस्तानी रेंजर्स ढेर, 3 बंकर किए तबाह      |       रोमांचक मैच में गौतम ने दिलायी रायल्स को मुंबई पर जीत      |      जानिए, कहां सात फेरे लेंगी सोनम कपूर और कहां होगी मेहंदी सेरेमनी      |      सुषमा स्वराज का चीन दौरा: भारत-चीन ने द्विपक्षीय संबंध सुधारने का संकल्प लिया      |      संग्रहालय से आदिगुरू के जीवन-दर्शन की प्रेरणा मिले : मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      दलित छात्रों पर मोदी सरकार की नजर, हॉस्टल में मिलेगा सस्ता अनाज      |      अर्शी खान ने रैंप पर देसी लुक में दिखाया सेक्सी अवतार      |      BJP नेताओं को पीएम की नसीहत- विवादित बयान न दें      |      IPL: चेन्नई ने हैदराबाद को 4 रनों से हराया      |      नाथू ला मार्ग से फिर शुरू होगी कैलाश मानसरोवर यात्रा: विदेश मंत्री      |      महिलाओं के विरुद्ध अपराधों को रोकने के लिये सभी समाज एकजुट हों : लोकसभा अध्यक्ष      |      यशवंत सिन्हा ने छोड़ी पार्टी      |      उपार्जन में व्यवधान डालने वाले तत्वों पर होगी कार्रवाई - मुख्यमंत्री श्री चौहान      |      KKR vs KXIP: बारिश भी नहीं रोक पाई गेल का तूफान, पंजाब ने केकेआर को दी 9 विकेट से मात      |      उम्रदराज महिला के किरदार में दिखेंगी अनुष्का शर्मा, तस्वीर आई सामने      |      मोदी सरकार का बड़ा फैसला, बच्चों के बलात्कारियों को मिलेगी फांसी, अध्यादेश लाएगी सरकार      |      नॉर्थ कोरिया में तेज़ी से हो रहा है बदलाव- 'कॉमरेड' से 'रिस्पेक्टेड फर्स्ट लेडी' हुईं किम की पत्नी रि सोल जू      |      

आनंद की बात

फल-सब्जियों को लंबे समय तक फ्रैश रखने के लिए लोग इन्हें फ्रिज में रखते हैं लेकिन कई बार फिर भी ये खराब हो जाती है। दरअसल, कुछ चीजें एेसी होती है जिन्हें फ्रिज म
आगे पढ़ेंअन्य विविध समाचार
इलायची एक एेसा मसाला है जो हर किचन में आसानी से पाया जाता है। इलायची दो प्रकार की होती है बड़ी और छोटी। ...
आगे पढ़ें
शाओमी अपना नया स्मार्टफोन Mi6X चीन के बाजारों में 25 अप्रैल को लॉन्च करने वाली है. ये स्मार्टफोन भारत में MiA2 के नाम के साथ लॉन्च किया जाएगा....
आगे पढ़ें
किसानों के लिये बजट में 20 हजार करोड़ की व्यवस्था : मुख्यमंत्री श्री चौहानBookmark and Share

 मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि किसानों के लिये बजट में 20 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। यह राशि किसानों के बैंक खातों में विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत पहुँचाई जायेगी। मुख्यमंत्री ने यह जानकारी सीहोर जिले की नसरुल्लागंज तहसील के गोपालपुर में 516 करोड़ 11 लाख की लागत की छीपानेर माइक्रो उद्वहन सिंचाई योजना के शिलान्यास और किसान सम्मेलन में दी। श्री चौहान ने 21 करोड़ 69 लाख की लागत की समूह नल-जल योजना तथा 2 करोड़ की लागत के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन का भी लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने बताया कि किसानों की खेती से आय बढ़ाने के लिये ही प्रदेश में सिंचाई का रकबा बढ़ाया जा रहा है। जहाँ नहरों के माध्यम से सिंचाई संभव नहीं है, वहाँ उद्वहन सिंचाई योजनाएँ बनाकर किसानों के खेतों तक पानी पहुँचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार किसान की मेहनत का सम्मान करती है। इसलिये किसानों के हित संरक्षण के लिये हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं।

श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में यह पहला मौका है, जब राज्य सरकार ने किसानों को पिछले वर्ष बेची गई गेहूँ की फसल के लिये 200 रुपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि देने का निर्णय लिया। आगामी 16 अप्रैल को शाजापुर में राज्य-स्तरीय समारोह में 10 लाख किसानों के खातों में 16 करोड़ की राशि जमा करवाई जायेगी। इसी दिन हर जिला मुख्यालय पर किसानों के खातों में प्रोत्साहन राशि जमा कराने का कार्य किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस बार भी किसानों को मण्डियों में गेहूँ बेचने पर 265 रुपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। श्री चौहान ने कहा कि चना, मसूर और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी पर भी किसान को समर्थन मूल्य के अलावा 100 रुपये प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। उन्होंने कहा कि मण्डी के बाहर गेहूँ और चने की बिक्री करने वाले किसानों को भी भावांतर योजना का लाभ दिया जायेगा। श्री चौहान ने बताया कि ऋण समाधान योजना में किसानों के कुल ऋण पर ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज का भुगतान राज्य सरकार करेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मुख्यमंत्री असंगठित श्रमिक कल्याण योजना में अभी तक पौने दो करोड़ से अधिक श्रमिकों ने पंजीयन करवाया है। पंजीकृत श्रमिकों को विभिन्न शासकीय योजनाओं का लाभ, घर बनाने के लिये जमीन का पट्टा और आर्थिक सहायता तथा 200 रुपये मासिक फ्लेट रेट पर बिजली भी उपलब्ध करवायी जायेगी।

छीपानेर माइक्रो उद्वहन सिंचाई योजना

छीपानेर माइक्रो उद्वहन सिंचाई योजना से सीहोर जिले की नसरुल्लागंज तहसील और देवास जिले की खातेगाँव तहसील में 35 हजार 62 हेक्टेयर कृषि भूमि में सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी। योजना के निर्माण के लिये 516 करोड़ 11 लाख रुपये की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की गई है। योजना के अंतर्गत नर्मदा नदी के तट पर 5 विभिन्न स्थान पर कुल 12.64 क्यूमेक्स जल का उद्वहन किया जायेगा। ग्राम चीचली, करोंदमाफी, पीपलनेरिया, छीपानेर तथा चौरसाखेड़ी के पास पम्पिंग स्टेशन बनाये जायेंगे। पम्पिंग स्टेशन से 6 राइजिंगमेन द्वारा नर्मदा जल खेतों तक पहुँचेगा।

 

योजना की विशेषता यह है कि जल वितरण प्रणाली पाईप आधारित होगी। पाईप से जल प्रत्येक ढाई हेक्टेयर चक तक किसान को 20 मीटर दबाव पर उपलब्ध होगा। दाबयुक्त जल से किसान ड्रिप अथवा स्प्रिंकलर से सिंचाई कर सकेंगे। इस पद्धति से सिंचाई पर किसान को खेत समतल करने की आवश्यकता नहीं होगी। कम पानी से अधिक और उपयोगी सिंचाई का लाभ मिलेगा। यह योजना प्रधानमंत्री के 'पर ड्राप मोर क्राप'' अर्थात पानी की बूँद-बूँद का उपयोग कर न्यूनतम जल से अधिकतम सिंचाई करने पर आधारित है। जल वितरण प्रणाली पाईप आधारित होने से भूमि का स्थाई अर्जन नहीं होगा। पम्प हाउस के लिये केवल लगभग छ: हेक्टेयर भूमि के स्थाई अर्जन की आवश्यकता होगी।